सिवनी (नईदुनिया प्रतिनिधि)। भोमा से सिवनी और सिवनी से चौरई तक ब्राडगेज परिवर्तन का काम रफ्तार नहीं पकड़ पा रहा है। बार बार काम पूरा करने की मियाद बढ़ाए जाने के बाद भी समय पर काम पूरा नहीं हो पा रहा है। हालात यह है कि इस रूड में कई जगह अब तक पातें नहीं बिछ पाई हैं। वहीं शहर के रेलवे स्टेशन का काम भी पूरा नहीं हो सका है।

कार्य की रफ्तार देखने के बाद अब अनुमान लगाया जा रहा है कि इस साल के अंत तक भी लोगों को रेल सेवा का लाभ नहीं मिल सकेगा। मेगा ब्लाक लगे लगभग छह साल बीतने के बाद भी अब तक काम पूरा नहीं हो पाया है।

इन जिलों में तेजी से हो रहा कामः सिवनी जिले के आसपास जिस तरह से रेलवे का तकनीकि प्रभाग का अमला काम कर रहा है उसे देखकर तो यही प्रतीत हो रहा है कि रेलवे के अधिकारियों के लिए मंडला और छिंदवाड़ा जिले में काम करना पहली प्राथमिकता है। इसका कारण यह है कि मंडला संसदीय क्षेत्र में घंसौर से नैनपुर, नैनपुर से मंडला, नैनपुर से कान्हीवाड़ा होकर भोमा में काम पूर्ण कर लिया गया है। इसके अलावा छिंदवाड़ा संसदीय क्षेत्र में छिंदवाड़ा से चौरई तक का काम भी पूर्णता की ओर है। वहीं बालाघाट संसदीय क्षेत्र में भोमा से सिवनी होकर चौरई तक के हिस्से में अब तक काम धीमी गति से ही चल रहा है।

अब तक नहीं बिछी पटरीः भोमा से सिवनी के बीच तीन किलोमीटर के कुछ हिस्से में अब पटरी बिछाई ही नहीं गई है। रेलवे के अधिकारियों द्वारा बालाघाट संसदीय क्षेत्र के सिवनी जिले के हिस्से में धीमी गति से होने के कई कारण बताए जा रहे हैं। रेलवे के अधिकारियों के मुताबिक इस हिस्से का काम करने वाले ठेकेदार ने आत्म हत्या कर ली थी इसलिए काम में विलंब हो रहा है। जबकि हकीकत यह है कि सिवनी के इस हिस्से के अलावा उसी ठेकेदार ने मंडला संसदीय क्षेत्र में भी चार हिस्सों में काम लिया गया था जो अब पूरा हो चुका है।

गायब हो गए अंडरपासः सिवनी में कटंगी नाका की तरह छिंदवाड़ा नाका, बरघाट नाका और नागपुर नाके पर बनने वाले अंडरपास को विलोपित कर दिया गया है। इस बात की पुष्टि नैनपुर में पदस्थ डिप्टी एसई मनीष लावणकर ने की है। अब सिवनी शहर में कटंगी नाका में अंडरपास रहेगा। इसके अलावा छिंदवाड़ा नाका, बरघाट नाका, नागपुर नाका क्षेत्र में रेलवे फाटक (समपार) रहेगा, जो रेल के आने जाने के समय बंद कर दिया जाएगा। जिस तरह पूर्व में यहां जाम की स्थिति निर्मित होती थी, उसी तरह अब भी जाम की स्थिति निर्मित होने वाली है। डिप्टी एसई मनीष लावणकर का कहना है कि भोमा से सिवनी के बीच काम में देरी का कारण बरसात है। इस हिस्से के सीएसआर के लिए दिसंबर तक इंतजार करना होगा।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local