सिवनी, नईदुनिया प्रतिनिधि। वन विकास निगम बरघाट प्रोजेक्ट के जंगल से लगी सड़क पर सोमवार सुबह दौड़ रहे बच्चों पर जंगली जानवर ने हमला कर दिया। हमले में एक 10 वर्षीय बालक की मौके पर मौत हो गई जबकि अन्य बच्चे जान बचाकर भाग निकले। जान बचाकर भागे बच्चों ने तेंदुए के हमले की सूचना ग्रामीणों को दी जिसके बाद आक्रोशित ग्रामीण मौके पर पहुंच गए। सूचना मिलने के बाद वन अमला भी मौके पर पहुंच गया है। वहीं एक अन्‍य ग्रामीण पर भी जंगली जानवर ने हमला कर दिया, जिससे वह घायल हो गया। घायल का नाम दिनेश कांवरे बताया जा रहा है।

केवलारी रेंज के प्रभारी रेंजर एसके वनवाले ने बताया कि सोमवार सुबह करीब 7 बजे सकरी से लगे घोरलाटोला (पान्डीवाडा) गांव के 4-5 बच्चे में घूमने व दौड़ लगाने गए थे। इसी दरमियान जंगली जानवर ने 10 वर्षीय बालक रमन पुत्र नरेश परते जाति गोंड पर हमला कर दबोच लिया जिससे उसकी मौके पर मौत हो गई। साथ गए अन्य बच्चों ने इसकी जानकारी ग्रामीणों को दी, जिसके बाद जंगल पहुंचकर आक्रोशित ग्रामीणों ने जंगली जानवर कोर लिया है। इस घटना से समूचे क्षेत्र में दहशत का माहौल है।

महिलाओं की हो चुकी मौत: गौरतलब है कि क्षेत्र में 3 महिलाओं की तेंदुए के हमलों में मौत हो चुकी है, जिसके बाद अक्टूबर माह में जंगल में पिंजरे लगा वन अमले ने दो तेंदुए को पकड़ा था। इनमें से एक तेंदुए को वन विहार भोपाल व दूसरे तेंदुए को मुकुंदपुर जू भेजा गया था। 19 अक्टूबर को मोहगांव में अन्य 4 महिलाओं के साथ धान की फसल काट रही गजराबाई पति उदल पंचेश्वर (48) पर तेंदुए ने हमला कर दिया जिससे उसकी मौत हो गई थी।

16 अक्टूबर को दक्षिण सामान्य वनमंडल के कान्हीवाड़ा वन परिक्षेत्र के पांडीवाड़ा गांव से लगे जंगल में पिता के साथ मवेशी चराने गई 17 वर्षीय किशोरी रवीना यादव की तेंदुए ने हमला किया था, जिससे उसकी मौत हो गई थी। 15 सितंबर को वन विकास निगम की मोहगांव बीट में 15 जलाऊ लकड़ी बीनने गई बैगा जाति की आदिवासी महिला रंजीता पति स्व. मोहबत सिंह दास (50) की तेंदुए के हमले में मौत हो गई है। जबकि साथ गई अन्य दो महिलाएं व एक पुरूष मौके से भाग निकले।

तेंदुआ ने किया हमला: वन विकास निगम के मंडल प्रबंधक वीसी मेश्राम ने बताया कि बच्‍चे पर हमला तेंदुआ ने किया है। मेश्राम ने बताया कि तेंदुआ को ट्रेंकुलाइज कर पकड़ने पेंच नेशनल पार्क से रेस्क्यू दल को बुलाया गया है। साथ ही वन अमला और पुलिस फोर्स भी मौके पर पहुंच रहा है। झाड़ियों के बीच छिपे तेंदुआ को बड़ी संख्या में मौजूद ग्रामीणों ने घेर रखा है। उन्‍होंने कहा कि तेंदुआ को बचाना हमारी प्राथमिकता है। आक्रोशित ग्रामीणों को समझाइश देकर शांत कराने का प्रयास वन अमले द्वारा मौके पर किया जा रहा है।

Posted By: Ravindra Suhane

NaiDunia Local
NaiDunia Local