सिवनी। सन 1851 में बने ब्रिटिशकालीन सुकला (अरी) जलाशय हाल ही में हुई बारिश में लबालब हो गया है। 21 फिट तक जलाशय भरने से रपटों में ओवरफ्लो का पानी बह रहा है। रपटों से होते हुए तालाब का पानी जल संसाधन विभाग द्वारा पर्यटकों के लिए तैयार किए गए वाटरफॉल से होकर चौबीसों घंटे बह रहा है।

ऊंचाई से तेज रफ्तार में बहते पानी का रोमांच पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित कर रहा है। दस से बारह फिट गिरते पानी से तैयार वाटरफॉल का लुत्फ उठाने सैलानी बड़ी संख्या में यहां पहुंच रहे हैं। पानी में बच्चे, बड़े व नौजवान मस्ती कर अवकाश का मजा ले रहे हैं।

जंगल के बीच खूबसूरत नजारा - रूखड़ वन परिक्षेत्र से घिरे सुकला जलाशय का विहंगम और खूबसूरत नजारा लोगों को अपनी ओर आकर्षित कर रहा है। सालों बाद ओवरफ्लो के बाद रपटों में पानी का तेज बहाव होने से तैयार वाटरफॉल ने जलाशय की खूबसूरती और बढ़ा दी है।

वाटरफॉल व रपटों को जल संसाधन विभाग ने इस तरह तैयार किया है कि इसमें हादसों की संभावना बहुत कम है। खूबसूरत व विहंगम नजारों को लोग अपने मोबाइल के कैमरे में कैद कर रहे हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस