सिवनी, नईदुनिया प्रतिनिधि। भोपाल जाते समय एसपी रामजी श्रीवास्तव ने वाहनों से अवैध वसूली करते यातायात पुलिस कर्मियों को देखा और तत्काल उन्हे निलंबित कर दिया। संदिग्ध गतिविधियों और अवैध वसूली करते पाए जाने पर यातायात के दो एएसआई व चार आरक्षकों पर कार्रवाई की गई है।

यह है मामला

हाइवे पर तेज रफ्तार वाहनों पर लगाम लगाने और चालानी कार्रवाई करने के लिए यातायात विभाग को इंटरसेप्टर वाहन मिला है। सोमवार को इस वाहन को लखनादौन मार्ग पर वाहनों की रफ्तार चैक करने व चालानी कार्रवाई के लिए लगाया गया था। वहीं यातायात विभाग के पुलिस कर्मी ओवर लोडिंग वाहनों को भी रोक कर अवैध वसूली कर रहे थे। इसी बीच यहां से गुजर रहे एसपी रामजी श्रीवास्तव ने इंटरसेप्टर वाहन के पास अन्य वाहनों की लाइन देखी तो जांच के लिए रुके। तब उन्होंने पाया कि यातायात विभाग के पुलिसकर्मी वाहनों से अवैध वसूली कर रहे हैं।

ये हुए निलंबित

एसपी रामजी श्रीवास्तव ने बताया है कि इंटरसेप्टर वाहन केवल हाइवे से गुजरने वाले वाहनों की गति पर नियंत्रण रखने और चालानी कार्रवाई करने के लिए उपयोग किया जाता है। इस वाहन के साथ कार्रवाई करने के लिए तैनात पुलिकर्मी ओवर लोडिंग वाहनों को रोकने व कार्रवाई नहीं कर सकते है। सोमवार को संदिग्ध गतिविधियों और अवैध वसूली करते पाए यातायात के दो एएसआई मुकेश डेहरिया, गौरव मर्सकोले व चार आरक्षक धर्मचंद, राजा पवार, रामता, युवराज नागेश्वर निलंबित किए गए हैं।

अब तक तीन सौ से ज्यादा हो चुकी है चालानी कार्रवाई

यातायात व्यवस्था को सुदृढ़ बनाए रखने को लेकर यातायात पुलिस को बीते अपैल माह में इंटरसेप्टर वाहन की सौगात मिली। इस वाहन से 800 मीटर की दूरी से वाहनों की ओवर स्पीड मापी जा सकती है। साथ ही तीन सौ मीटर की दूरी से यातायात पुलिस का यह वाहन नंबर प्लेट रिकार्ड का सकता है। वाहन में स्पीड राडार साउंड मीटर सहित अन्य कई तकनीकी सुविधाएं मुहैया कराई गई हैं। इससे यातायात की बहाली में किसी भी प्रकार की कठिनाई ना आए। अब तक इस वाहन की मदद से तीन सौ से अधिक तेज रफ्तार वाहनों पर चालानी कार्रवाई की जा चुकी है। छोटे वाहनों से एक हजार व बड़े वाहनों से तीन हजार रुपये का चालान काटा जा रहा है।

Posted By: Jitendra Richhariya

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close