सिवनी (नईदुनिया प्रतिनिधि)। धारना क्षेत्र में एक ही समूह को कई कामों को जिम्मा दे दिया गया है। दूसरे समूहों को दरकिनार कर दिया गया। उनके आवेदनों को ध्यान नहीं दिया गया। इस मामले में शिकायत के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं की गई है।

कलेक्टर को दी शिकायत में लता काढ़े, रंजीता बोपचे व सुनीता शुक्ला ने फूड विभाग पर गंभीर आरोप लगाए हैं। उन्होंने बताया कि सिंहवाहिनी स्वसहायता समूह पहले सरकारी स्कूलों में मध्यान्ह भोजन का संचालन करता था। बाद में सरकार ने महिला समूहों को राशन दुकानों के संचालन के अलावा धान खरीदी का जिम्मा दिए जाने की व्यवस्था की। इसी का फायदा उठाते हुए सिंहवाहिनी समूह ने सैला, घीसी और गांगपुर में राशन दुकानें अपने नाम कर ली। इतना ही नहीं केकड़ई में भी धान खरीदी का जिम्मा ले लिया, जबकि यहां पर पहले वृहत्ताकार सहकारिता समिति धारनाकला खरीदी करती थी।

शिकायत में बताया गया है कि समूह की दो सेल् समेन समूह की ही अध्यक्ष और सचिव की बेटी हैं। दोनों का विवाह हो गया और वे दूसरे स्थान पर रहने लगी हैं। इसके बाद भी दुकानों में सेल्समेन का पद उनके नाम से है। बकायदा वेतन भी निकल रहा है। यह सिलसिला काफी दिनों से चल रहा है। इतना ही नहीं समूह को आसपास के स्कूलों में मध्यान्ह भोजन के अलावा जनपद के कार्यक्रमों में भोजन बनाने का काम भी दिया जा रहा है।

इनका कहना है

जब राशन दुकानों के अलावा अन्य कामों को लेकर अवसर सभी समूहों को दिए गए थे तब कोई आगे नहीं आया। जिसने संचालन के लिए आवेदन दिया उनको मौका दिया गया है। महिला सेल्समेन के विवाह होने के बाद भी उनके नाम से संचालन हो रहा है तो यह गंभीर मामला है। इसको मैं चेक करवाता हूं।

एसके मिश्रा, जिला आपूर्ति अधिकारी, सिवनी

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस