सिवनी (नईदुनिया प्रतिनिधि)। करोड़ों रुपये की रायल्टी राशि बकाया होने पर भौमिकी व खनिकर्म संचालक ने जिले की 11 खदानों का ठेका निरस्त कर दिया है।इस आशय के आदेश पिछले सप्ताह भोपाल से जारी हो चुके हैं।आदेश जारी हुए करीब एक सप्ताह हो चुका है, लेकिन अभी तक जिले का खनिज अमला खदानों में चल रहे रेत के अवैध उत्खनन को नहीं रोक सका है।सूत्रों के मुताबिक खदानों से अवैध तरीके से रेत की निकासी बदस्तुर जारी है।हैरानी की बात तो यह है कि ठेका निरस्त होने की कार्रवाई होने के बाद भी हर दिन बड़ी संख्या में रेत से भरे डंपर वाहन विभिन्ना मार्गो पर बेरोक-टोक दौड़ रहे हैं।इसके बावजूद खनिज विभाग के अमले को सड़क पर दौड़ रहे रेत से भरे डंपर वाहन नजर नहीं आ रहे हैं।इधर जिले खनिज अधिकारियों का कहना है कि, सभी रेत खदानों में पहुंचकर भौतिक स्थिति का जायजा लिया जा रहा है।खनिज निरीक्षक द्वारा बीते दिनों कुरई के खैरघाट रेत खदान का निरीक्षण किया गया था, मौके पर खनन होता नहीं मिला।अन्य रेत खदान की जांच कराई जाएगी।जानकारी के मुताबिक खदानों में चोरी छिपे ट्रेक्टर ट्राली व डंपर वाहन से रेत का अवैध खनन व परिवहन हो रहा है।जिसके खनिज, राजस्व और पुलिस विभाग नहीं रोक पा रहा है।

जय महाकाल पर 8.5 करोड़ बकायाः जिले की 11 रेत खदानों के समूह का ठेका मेसर्स श्री जय महाकाल एसोसिएट्स ने लिया था।दिसंबर 2021 से मार्च 2022 तक की देय राशि 8 करोड़ 51 लाख 48 हजार 52 रुपये बकाया होने पर भौमिकी व खनिकर्म संचालक ने कंपनी का ठेका निरस्त कर दिया है।समय पर कंपनी द्वारा राशि जमा नहीं करने पर मेसर्स श्री जय महाकाल एसोसिएट्स को मप्र रेत नियम 2019 के नियम 15 (1) के अनुसार नोटिस जारी किए गए थे लेकिन इसके बावजूद राशि जमा नहीं कराई गई।संचालक ने ठेका निरस्त करने के साथ ही सुरक्षा निधि के तौर पर जमा की गई राशि राजसात करने के निर्देश जारी किए हैं।इतना ही नहीं महाकाल एसोसिएट्स को प्रदेश में आगामी रेत के किसी भी ठेके को प्राप्त करने अयोग्य घोषित करने की कार्रवाई करने कहा गया है।महाकाल एसोसिएट्स ने जिले की 11 रेत खदानों का ठेका वार्षिक ठेकाधन रुपये 18 करोड़ 99 लाख 99 हजार 786 में लिया गया था।तीन साल के लिए हुए इस ठेके का अनुबंध 2 जून 2020 को किया गया था।आपसी खींचतान के चलते पिछले साल ठेका सौंसर की फर्म को दे दिया गया था।खदानों से रेत निकासी कर रही सौंसर की फर्म भी ठेका नहीं चला पाई।

इनका कहना है

श्री जय महाकाल एसोसिएट्स का ठेका निरस्त होने संबंधी आदेश भोपाल से पिछले सप्ताह प्राप्त हो गए हैं।जिले की सभी रेत खदानों की जांच कराई जाएगी।कार्यालय समय पर इस बारे ज्यादा जानकारी दी जा सकेगी।

आरके खातरकर, खनिज अधिकारी सिवनी।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local