सिवनी (नईदुनिया प्रतिनिधि)। सिवनी शहर में विद्युत विभाग अंतर्गत समाधान योजना में 3407 उपभोक्ताओं ने 21 जनवरी तक एकमुश्त भुगतान करने का विकल्प 'अ' अथवा छह बराबर किश्तों में भुगतान के विकल्प 'ब' को चुना है।एकमुश्त जमा करने का विकल्प चुनने वाले उपभोक्ताओं को बक़ाया राशि का मात्र 60 फीसद ही जमा करना है जबकि छह किश्तों में जमा करने का विकल्प चुनने वालों को बकाया का 75 फीसद जमा करना है। इनमें से दो हजार से अधिक उपभोक्ताओं द्वारा संतुष्टि पूर्वक बिलों की राशि का भुगतान भी कर दिया हैं।समाधान योजना दिसंबर 21 में लागू की गई थी, यह योजना 31 जनवरी 2022 तक लागू रहेगी। इसके बाद कोई भी विकल्प न चुनने वाले उपभोक्ताओं को 31 अगस्त 20 की जुड़ी हुई बकाया राशि का सौ फीसद भुगतान करना पड़ेगा।साथ ही बिल भुगतान की अंतिम दिनांक 18 जनवरी के बाद शहर विद्युत विभाग द्वारा बकायदारों के विद्युत कनेक्शन विच्छेदन का कार्य प्रारंभ कर दिया गया हैं।उपभोक्ता स्वयं भी एमपीईजेड वेबसाइट पर जाकर आनलाइन आवेदन कर सकते हैं।सिवनी शहर कार्यालय में भी आफलाइन फार्म जमा कराए जा रहे हैं। सिवनी शहर अंतर्गत कुल 5137 उपभोक्ता समाधान योजना के पात्र हैं जिन पर 31 अगस्त 2020 की स्थिति में लगभग 51 लाख रुपये की राशि बकाया है। शहर के सभी उपभोक्ताओं से आग्रह है कि 31 जनवरी से पूर्व इस योजना का फायदा उठाएं जिससे बिजली बिल में नियमानुसार छूट प्राप्त की जा सके।मप्रपूक्षेविविकंलि सिवनी शहर कार्यालय के सहायक अभियंता वरूण सारस्वत ने बताया कि, उपभोक्ताओ को दी जाने वाली छूट की कुल राशि लगभग 22 लाख रुपये हैं।

श्रीराम मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम दो से पांच फरवरी तक

सिवनी।नागपुर रोड राष्ट्रीय राजमार्ग क्र. 44 पर स्थित कलबोड़ी के श्रीराम मंदिर में नौ देवियों की प्राण प्रतिष्ठा का कार्यक्रम दो फरवरी से प्रारंभ होगा।आयोजन समिति के सदस्यों ने बताया कि, तीन दिवस प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम पांच फरवरी तक चलेगा। प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी प्रज्ञानानंद सरस्वती महाराज के सानिध्य में संपन्ना होगा।श्रीराम मंदिर समिति ने ग्राम वासियों के सहयोग से तैयरियां प्रारंभ कर दी हैं। मंदिर की पुताई का कार्य व मंदिर में टाइल्स इत्यादि लगाने का कार्य जारी हैं। श्रीराम मंदिर समिति ने सभी श्रद्धालुओं से कोविड़ गाइड लाइन के तहत कार्य में तन, मन, धन से सहयोग करने का आग्रह किया हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local