सिवनी, नईदुनिया प्रतिनिधि। पेंच राष्ट्रीय उद्यान के अमले ने तीन आरोपितों को पेंगोलिन के शल्क, स्केल के साथ पकड़ा है। पूछताछ में आरोपितों द्वारा झाड़ियों के बीच छिपाई गई बाघ की 74 हड्डियों को भी जब्त कर लिया गया है। पकड़े गए तीनों आरोपित पैंगोलिन के शल्क को बेचने के लिए बाइक से नागपुर की ओरजा रहे थे, जिन्हें खवासा के पास पकड़ा गया। पेंच राष्ट्रीय उद्यान के उपसंचालक रजनीश कुमार सिंह ने बताया है कि पार्क के बफर क्षेत्र में मंगलवार को मुखबिर की सूचना के आधार पर वन्यप्राणी के अवययों के अवैध व्यापार के उदेश्य से वन्यप्राणी अवययों को लेकर बाइक से नागपुर की ओर जा रहे तीन व्यक्तियों को खवासा के पास रोककर पूछताछ की गई। उनके पास वन्यप्राणी पेगोलिंन के शल्क, स्केल थे। आरोपितों को वन परिसर में लाकर गहन पूछताछ की गई। इसमें आरोपित निरपत पुत्र झनकलाल कुमरे ने पूछताछ के दौरान बताया कि वन्यप्राणी बाघ की हड्डी मोहगांव यादव गांव के पास रोड के किनारे झाड़ियों में छिपाई है।इस पर बताए गए मौका स्थल से वन्यप्राणी बाघ की छोटी बड़ी 74 नग हड्डी जब्त की गई। इसका वजन 5.3 किलो पाया गया। आरोपीतों के पास से पेंगोलिन की 2.4 किलों सीपी (शल्क, स्केल) भी जब्त की गई।

इन्हें पकड़ा गया

वन्यप्राणी संरक्षण अधिनियम 1972 के प्रावधानों के तहत आरोपति निरपत पुत्र झनकलाल कुमरे उम्र 35 वर्ष निवासी जरखडी़ थाना कटंगी, जिला बालाघाट, अनिल पुत्र रोशन वरकडे़ उम्र 35 वर्ष निवासी पोटिया, थाना कुरई व तिलकचंद पुत्र चूरामन उम्र 33 वर्ष निवासी मोहगांव यादव, जिला सिवनी को गिरफ्तार किया गया है। आरोपितों से बाइक क्रमांक एमएच 31 सीडी 3336 भी जब्त की गई। तीनों आरोपितों को गिरफ्तार कर न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत किया गया। जांच अधिकारी के अनुरोध पर न्यायालय ने प्रकरण में अग्रिम जांच के लिए 7 मई तक वन विभाग की अभिरक्षा में सौपा गया है।

कार्रवाई टीम में ये रहे

कार्रवाई में बीपी तिवारी, सहायक वन संरक्षक सिवनी, आशीष कुमार पांडेय, अधीक्षक पेंच मोगली अभ्यारण्य, राहुल कुमार उपाध्याय वन क्षेत्रपाल परिक्षेत्र अधिकारी खवासा, सतीराम उईके वनपाल परिक्षेत्र सहायक खवासा वृत्त, कैलाशचंद शरणागत वनरक्षक, बीट प्रभारी, आकाश साहू वनरक्षक बीट प्रभारी कोठार बीट, कपिल पटेल वनरक्षक बीट प्रभारी रुखड़ (कोर), कमलेश कालोकर वनरक्षक बीट प्रभारी कुरई, अमित चौहान वनरक्षक बीट प्रभारी नयेगांव शामिल रहे।

Posted By: Mukesh Vishwakarma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close