सिवनी (नईदुनिया प्रतिनिधि)। छिंदवाडता-सिवनी-मंडला फोर्ट ब्राडगेज का निर्माण कार्य इन दिनों जिले की सीमा के भीतर चल रहा है। ब्राडगेज निर्माण के दौरान सड़क क्रासिंग पर लोगों को परेशानी से बचाने के लिए अंडर ब्रिज और ओवरब्रिज का निर्माण कार्य स्वीकृत किया गया है। वर्तमान में बारिश के दिनों में तो निर्माणाधीन ओवर ब्रिज और अंडर पास में निर्माण एजेंसी ठेकेदार द्वारा किए जा रहे लापरवाही पूर्वक कार्य के कारण लोगों की परेशानी बढ़ गई है।

ताजा मामला जिला मुख्यालय से लखनवाड़ा होकर संगई-हथनापुर मार्ग का है। यहां पर लखनवाड़ा और संगई के बीच निर्माणाधीन ब्रिज के पास से दिए गए डायवर्सन मार्ग इन दिनों दल-दल में तबदील हो गया है। क्षेत्र के लोगों को भारी मुसीबत का सामना करना पड़ रहा है।

छिंदवाड़ा-सिवनी-मंडला फोर्ट ब्राडगेज निर्माण कार्य स्वीकृत होने के बाद इस बहुप्रतिक्षित योजना को मूर्त रूप देने के लिए नैरोगेज मैगाब्लाक किया गया। नैरोगेज मार्ग पर ही ब्राडगेज निर्माण कार्य किया जा रहा है। ब्राडगेज निर्माण के दौरान सड़क क्रासिंग में अंडर पास और ओबर ब्रिज स्वीकृत किए गए है। इनमें से अधिकांश अंडर पास और ओबर ब्रिज का निर्माण कार्य पूर्ण हो चुका है। वर्तमान में सिवनी-छिंदवाड़ा मार्ग पर लखनवाड़ा से संगई के बीच सड़क क्रासिंग में ओबर ब्रिज का निर्माण कार्य चल रहा है। निर्माण कार्य प्रारंभ करने के दौरान निर्माणाधीन ब्रिज के बाजू से क्षेत्रीजनों के आवागमन का ध्यान रखते हुए डायवर्सन मार्ग बनाया गया था। यहां से क्षेत्र के लोग आना-जाना कर रहे थे।

विगत दिनों रेलवे के ठेकेदार ने लखनवाड़ा से संगई के बीच सड़क रेलवे क्रासिंग में बनाया जा रहे ओवरब्रिज के बाजू से बनाए गए डायवर्सन मार्ग में मिट्टी की पुराई करा दी। इसके बाद इसके ऊपर गिट्टी की चुरी और बोल्डर डला दिए गए है। काली मिट्टी की पुरायी होने के कारण जैसे ही बारिश प्रारंभ हुई मिट्टी ने पानी को अपने अंदर समा लिया और शुरूवात में तो वाहन की आवाजाही हो रही थी लेकिन लगातार बारिश में मिट्टी दलदल में परिवर्तित हो गई और कीचड़ के अंदर दबे पत्थर और बड़ी मुसीबत बन गए है। पूरा डायवर्सन मार्ग दलदल में तबदील हो गया है।

डायवर्सन मार्ग के दलदल में तब्दील होने के कारण क्षेत्रीयजनों को आवाजाही में भारी परेशानी हो रही है। दोपहिया, चौपहिया और बड़े वाहन कीचड़ में फंस रहे है और कोई किसी तरह वाहन को कीचड़ के बीच से निकालने का प्रयास करता है तो कीचड़ के बीच समाए बड़े-बड़े पत्थर वाहनों को क्षति पहुंचा रहे है। डायवर्सन मार्ग दलदल में तबदील हो जाने के कारण क्षेत्रीयजनों को 12 किलोमीटर लंबा सफर तय करके मातृधाम कातलबोड़ी की ओर से घूमकर जैतपुर होकर जाना पड़ रहा है। इससे लोगों को अतिरिक्त आर्थिक बोझ पड़ रहा है।

मड़वा गांव के निवासी अधिवक्ता भावेश वर्मा ने बताया कि रेलवे का निर्माण कार्य चल रहा है यह अच्छी बात है लेकिन ठेकेदार द्वारा लोगों की सुविधा का ध्यान नहीं रखा जा रहा है। मार्ग में मिट्टी ओर बोल्डर डाल दिया गया है। बारिश के कारण मिट्टी दलदल में बदल गई है और वाहनों की आवाजाही उक्त मार्ग से बंद हो गई जिस वजह से लोगों को अतिरिक्त दूरी तय करके घूमकर जाना पड़ रहा है। जिला प्रशासन को चाहिए कि उक्त डायवर्सन मार्ग को जल्द से जल्द दुरूस्त कराकर वाहनों की आवाजाही योग्य बनाने के लिए ठेकेदार को निर्देशित किया जाए।

इनका कहना है

मैने मौके पर जाकर निरीक्षण किया है। डायवर्शन मार्ग काफी खराब है। इसमें जल्द सुधार करवाकर आवागमन के योग्य बनाया जाएगा।

दिनेश छाबड़ा

इंजीनियर, रेलवे, सेक्शन छिंदवाड़ा

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local