सिवनी। नक्सलियों के नाम पर दिलीप बिल्डकॉन कंपनी के सुपरवाइजर को धमकी भरा पत्र देकर एक करोड़ रुपए की फिरौती मांगने वाले आरोपित को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। डूंडासिवनी व कुरई पुलिस ने शुक्रवार को आरोपित को पीपरवानी क्षेत्र के जंगल से घेराबंदी कर गिरफ्तार किया है। पूछताछ व तलाश के दौरान आरोपित के कब्जे से एक बीएसएफ बटालियन का आईडी कार्ड मिला है। पुलिस ने आरोपित के कब्जे से दो मोबाइल हैंडसेट व चार सिम कार्ड भी जब्त किए हैं। फिरौती के एक करोड़ रुपए आरोपित ने किन जरूरतों को पूरा करने मांगे थे, यह अभी स्पष्ट नहीं हुआ है।

पुलिस के मुताबिक बालाघाट तिरोड़ी के पौनिया गांव निवासी नितेश पिता सुखदास परते (24) ड्राइवरी करता है। उसका परिवार खेती किसानी से जुड़ा हुआ है। शनिवार को एएसपी कमलेश खरपुसे ने बताया कि पूछताछ में नितेश पुलिस को गुमराह करने की कोशिश कर रहा है।

वह खुद को बीएसएफ की 101 दिल्ली बटालियन में आरक्षक (ड्राइवर) के पद पर पदस्थ रहने और बाद में संदिग्ध आचरण के चलते बर्खास्त किए जाने की बात कह रहा है। लेकिन अभी तक जांच में यह बात सामने नहीं आई है। एएसपी खरपुसे ने बताया कि मामले में बालाघाट व छिंदवाड़ा पुलिस की मदद भी ली जा रही है। आरोपित के नक्सली गतिविधियों में शामिल होने के कोई प्रमाण नहीं मिले हैं।

साइबर सेल की मदद से दबोचा

आरोपित ने शुक्रवार शाम को मोबाइल पर सुपरवाइजर केशव तिवारी को फोन कर रिड्डी से पीपरवानी के बीच अलग-अलग स्थानों पर फिरौती के एक करोड़ लेकर बुलाया था। पुलिस ने साइबर सेल की मदद लेकर तैयारी कर रखी थी। सुपरवाइजर से फिरौती की रकम लेने जैसे ही आरोपित पीपरवानी क्षेत्र के जंगल में पहुंचा, पुलिस ने आरोपित को धरदबोचा। पुलिस ने आरोपित के खिलाफ धारा 384 के तहत प्रकरण दर्ज कर लिया है। जांच में इस मामले में अन्य किसी व्यक्ति के शामिल होने की बात सामने नहीं आई है।

Posted By: Sandeep Chourey

fantasy cricket
fantasy cricket