विनोद कुमार शुक्ला. शहडोल। एक ओर बच्चों को मोबाइल गेम से दूरी बनाने की बात होती है, वहीं शिक्षा विभाग अब बच्चों को उनके माता-पिता के साथ मोबाइल पर गेम खेलने की प्रेरणा देने की तैयारी कर रहा है। विभाग का दावा है कि यह गेम भारत के स्वतंत्रता संग्राम पर आधारित है, जो महत्वपूर्ण शैक्षणिक उपकरण के रूप में काम करेगा। इसे आजादी क्वेस्ट आनलाइन मोबाइल गेम्स नाम दिया गया है। शिक्षा विभाग इस गेम को विद्यार्थियों व उनके माता पिता तक पहुंचाने के लिए योजना तैयार कर रहा है। विभागीय अधिकारियों का कहना है कि यह गेम विद्यार्थियों की रुचि को ध्यान में रखकर बनाया गया है। गेम खेलने के दौरान वे स्वतंत्रता संग्राम से परिचित होंगे। राज्य शिक्षा केंद्र के जारी एक निर्देश में कहा गया है कि अधिक से अधिक बच्चों, उनके माता-पिता और शिक्षकों को गेम से जोड़ने के लिए प्रोत्साहित किया जाए।यह निर्देश प्रदेश के सभी जिलों के लिए जारी किया गया है।

श्रृंखला के रूप में शुरू किया

जारी आदेश के मुताबिक भारत की आजादी के 75 साल पूरे होने पर भारत सरकार के शिक्षा मंत्रालय ने बीते 24 अगस्त को सभी आयु वर्ग के लोगों को जोड़ने के उद्देश्य से अाजादी क्वेस्ट आनलाइन मोबाइल गेम की एक श्रृखला शुरु किया है। देश के प्रधानमंत्री की दृष्टि के अनुरुप शिक्षा के गैमिफिकेशन के आधार पर सभी उम्र के विद्यार्थियों के साथ उनके माता-पिता और शिक्षकों के लिए भारत सरकार के स्वातंत्रता संग्राम के बारे जानने के लिए यह खेल महत्वपूर्ण शैक्षणिक उपकरण के रूप में काम करेंगे। सरकार की इस अभिनव पहल को हर विद्यार्थी एवं उनके माता पिता तक पहुंचाया जाए और गेम से जुड़ने के प्रोत्साहित करने का प्रयास होगा।

आजादी के पहलुओं से जोड़ेंगे

इस मोबाइल गेम्स के माध्यम से आमजन को भारत की आज़ादी के महम्वपूर्ण पहलू एवं देश के महान स्वतंत्रता सेनानियों के बारे में मनोरंजक तरीके से बताना है।आज़ादी क्वेस्ट आनलाइन मोबाइल गेम्स की एक मनोरंजक और शिक्षाप्रद सीरिज़ है। इसका उद्देश्य एक मज़ेदार गेमप्ले के माध्यम से खिलाडि़यों को भारत के स्वतंत्रता सेनानियों की वीरता के बारे में अधिक जानकारी देने के लिए एक मंच प्रदान करना है।इस मंच को सफल बनाने के लिए जिले का शिक्षा विभाग भी काम करेगा।इसकी योजना बनाने पर विभागीय अमला काम शुरू कर दिया है।

हमें राज्य शिक्षा केंद्र का पत्र प्राप्त हो गया है। जिले के सभी जिम्मेदार कर्मचारियों को निर्देश किया की इसका पालन कराएं। आजादी क्वेस्ट आनलाइन मोबाइल गेम्स के बारे में जाने और ऐप के माध्यम से अधिक से अधिक बच्चों व अभिभावकों को जोड़ें। दो दिन पहले ही पत्र प्राप्त हुआ है, जिस पर अमल करने की तैयारी चल रही है।- डा. मदन कुमार त्रिपाठी, डीपीसी शहडोल

Posted By: Mukesh Vishwakarma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close