शहडोल, नईदुनिया प्रतिनिधि। लगातार हो रही बरसात के कारण बाणसागर बांध में जलभराव की स्थिति अब बेहतर हो चुकी है। हालत यह है कि खतरे के निशान तक पानी पहुंचने में अब केवल 0.35 मीटर की कमी है । शुक्रवार की सुबह 8:00 बजे बाणसागर बांध में पानी का भराव 341.29 मीटर दर्ज किया गया है इस तरह से देखा जाए तो अब खतरे के निशान तक पानी पहुंचने में जीरो पॉइंट 0.35 मीटर पानी की कमी है जो जल्दी ही पूरी हो सकती है।

24 घंटे से हो रही है बरसात

उल्लेखनीय है कि गुरुवार की रात और दिन यानी 24 घंटे बरसात हुई है। हालांकि, बरसात रुक-रुक कर हुई है, लेकिन तेज हुई है, जिसके कारण बांध में पानी का भराव भी तेजी से हुआ है। बताया जा रहा है कि बांध के गेट कभी भी खोले जा सकते हैं।

डोंडी पिटवा कर कर रहे सतर्क

बाणसागर बांध के भराव क्षेत्र के किनारे वाले गांव में प्रशासन के द्वारा डौंडी पिटवा कर लोगों को सतर्क किया जा रहा है लोगों को कहां जा रहा है कि वे बांध के किनारे ना जाएं और ना ही किसी तरह से लापरवाही बरते लोगों को सचेत किया जा रहा है कि वह किनारे वाले इलाकों से दूर रहें। गौरतलब है कि बाणसागर का बांध क्रमांक 3 के कार्यपालन यंत्री ने सभी संबंधित कलेक्टर को पत्र लिखकर उन से अनुरोध किया था कि वे ग्रामीण इलाकों में मुनादी करवाकर लोगों को सतर्क कराने का काम कर दें ताकि गेट खुलने की स्थिति में किसी तरह की दिक्कतों से लोगों को जूझना ना पड़े।

कलेक्टर ने जारी किए दिशा निर्देश

बाणसागर बांध के कार्यपालन यंत्री का पत्र मिलने के बाद कलेक्टर वंदना वैद्य ने बाणसागर बांध के कैचमेंट क्षेत्र में मानसून की सक्रियता एवं बांध के जलस्तर को देखते हुए समस्त मैदानी अमले को सचेत किया है। कलेक्टर ने कहा है कि बांध के डूब क्षेत्र के लगे हुए क्षेत्रों में भी आवश्यक अलर्ट, सुरक्षा व्यवस्था पूरा करें। क्षेत्रों में आवश्यकतानुसार अमले की तैनाती कर नदी-नालों में जलस्तर बढ़ने, पुल के जलमग्न की स्थिति को दृष्टिगत रखते हुए आवश्यक कार्यवाही एवं सुरक्षात्मक उपाय करें।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close