रविंद्र वैद्य, शहडोल। आदिवासी बाहुल्य जिला शहडोल के ढोलकू गांव में महात्मा गांधी जी का मंदिर बना हुआ है यह मंदिर तकरीबन 4 साल पहले पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष स्वर्गीय दिनेश शर्मा ने लोगों के सहयोग से बनवाया था महात्मा गांधी की प्रेरणा से ढोलकू गांव तथा आसपास के कई गांव के लोगों ने शराब पीना छोड़ दिया। यहां के लोग सफाई पसंद करने लगे हैं।

महात्मा गांधी जी के विचारों को मानने वालों में अधिकांश आदिवासी और हरिजन लोग हैं। मंदिर की पूजा गांव के एक हरिजन युवक के द्वारा की जाती है। गांधी जी के विचारों को मानते हुए यहां के लोग नशा बंदी को लेकर पूरा ध्यान दे रहे हैं।

गांधी जी को मानते हैं भगवान

यहां के लोग गांधीजी को किसी भगवान से कम नहीं मानते और यही कारण है कि सुबह शाम नियमित यहां पूजा पाठ की जाती है। 2 अक्टूबर के दिन यहां सुबह से ही लोगों का आना-जाना शुरू हो जाता है। गांधी जयंती के दिन 2 अक्टूबर को सुबह सर्व धर्म सभा इसके बाद महात्मा गांधी जी की प्रतिमा की पूजा अर्चना की जाती है।

शहडोल निवासी वरिष्ठ समाजसेवी गणेश शर्मा का दावा है कि पूरे मध्यप्रदेश में महात्मा गांधी जी का इस तरह का कोई मंदिर नहीं जहां पूजा अर्चना की जाती हो। उन्होंने बताया कि प्रतिदिन यहां गांधी जी की प्रतिमा को नहलाया जाता है और फिर आरती की जाती है। सुबह शाम यह क्रम चलता है ।गांव के लोग इस आयोजन में शामिल होते हैं

यहां होंगे यह कार्यक्रम

.सर्वधर्म प्रार्थना

.वैष्णव जन ते तेने कहिये भजन

.राष्ट्रीय ध्वज फहराना

. बच्चों के कार्यक्रम

. गांधी विचार पर बातचीत

. प्रसाद वितरण

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020