MP News: शहडोल (नईदुनिया प्रतिनिधि)। जिले के उत्तर वनमंडल में वनपरिक्षेत्र ब्यौहारी के घोरसा बीट में बुधवार को बाघिन का शव मिला है।कंपार्टमेंट 251 में तीन दिन पुराना शव मिलने के बाद वन विभाग का अमला हरकत में आ गया है। देर शाम तक बाघिन की मौत का कारण पता नहीं चल पाया है।पोस्मार्टम रिपोर्ट आने के बाद पता चलेगा की बाघ की मौत किस कारण से हुई है। शिकार की आशंका भी जताई जा रही है, लेकिन घटना स्थल पर ऐसे को सबूत नहीं मिले हैं जिससे शिकार की पुष्टि हो सके। वन विभाग क्षेत्र में सर्चिंग कर रहा है और शिकार की आशंका को लेकर भी चांज कर रहा है।

बाघिन की उम्र आठ वर्ष है और उसके शरीर के सभी अंग सलामत मिले हैं, लेकिन शरीर में सड़न हो गई थी और शरीर फूल गया था, जिससे बदबू भी आने लगी थी। सुबह जानकारी लगते ही वन विभाग के अधिकारी कर्मचारी मौके पर पहुंच गए थे और पोस्टमार्टम की कार्रवाई के साथ जांच में भी जुटे थे।जहां बाघिन का शव मिला है,वह क्षेत्र संजय गांधी टाइगर रिर्जव और बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व से लगा हुआ है।

यहां लगातार बाघों का मूवमेंट बना हुआ है। यहां से लगे क्षेत्र में 20 अधिक वाघों का मूवमेंट बना हुआ है। उत्तर वन मंडल के डीएफओ गौरव चौधरी ने बताया कि तीन पुराना बाघिन का शव मिला है। जांच चल रही है,पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद मौत का कारण सामने आएगा। घटना स्थन से काफी दूर बिजली की लाइन भी है और मौके पर कोई ऐसे प्रमाण भी नहीं मिले की शिकार कहा जाय। मौत हुई जांच के बाद कारण स्पष्ट होगा।हमारी अमला जांच में लगा हुआ है।

Posted By: Navodit Saktawat

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close