शहडोल(नईदुनिया प्रतिनिधि)।

बुधवार की शाम से दे रात तक जारी रही बारिश ने किसानों को राहत दी है और उनके चेहरे पर थोड़ी खुशी नजर आने लगी है। जिले में धान की बोवनी की बात करें तो संभाग के अन्य जिलों से काफी पीछे है। शहडोल में अब तक सिर्फ 18 प्रतिशत धान का रोपा लग पाया है जबकि अनूपपुर और उमरिया में धान की बोवनी 50 प्रतिशत से अधिक हो चुकी है। अब शहडोल के किसानों को भी बारिश ने सक्रिय कर दिया है और इन्होंने भी अपने अपने खेतों को तैयार कर रोपा लगाने की तैयारी कर ली है। अब किसान खेती में व्यस्त हो जाएंगे। उधर बारिश होने से उमस भरी गर्मी से भी लोगों को राहत मिली है।

लंबे समय बाद हुई झमाझम बारिशः जुलाई जो बारिश का महीना कहा जाता है वह पूरी तरह से सूखा सूखा बीत रहा था। यूं कहें कि आषाढ़ महीने ने जाते जाते बारिश करा दी है । अब सावन और भादौं ये दो महीने ही बारिश के शेष हैं जिसमें बारिश के अच्छे योग बताए जा रहे हैं पर प्रकृति के सामने अच्छे अच्छे ज्योतिष फे ल हो चुके हैं। मौसम वैज्ञानिक एक सप्ताह पहले से अच्छी बारिश होने के संकेत दे रहे थे पर बारिश अब जाकर हुई है।

यह है जिले में अब तक बारिश की स्थिति

वर्षा केंद्र अब तक पिछली

सोहागपुर 425 मिमी 337 मिमी

बुढ़ार 261 मिमी 368 मिमी

गोहपारू 425 मिमी396 मिमी

जैतपुर 337 मिमी 678 मिमी

चन्नौड़ी 235 मिमी 316 मिमी

ब्यौहारी 400 मिमी 354 मिमी

जयसिंहनगर 306 मिमी 184 मिमी

औसत वर्षा 348 मिमी 376 मिमी

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags