शहडोल कमिश्नर ने की कार्रवाई

शहडोल (नईदुनिया प्रतिनिधि) जिले के पथखई बांध व नहर निर्माण में गुणवत्ताहीन कार्य किए जाने के कारण किसानों को सिंचाई के लिए पानी नहीं मिल पा रहा था। इसकी शिकायत शहडोल के संभाग आयुक्त से की गई थी। इस शिकायत की जांच अधीक्षण यंत्री जलसंसाधन विभाग जबलपुर से कराई गई। जांच प्रतिवेदन कमिश्नर आरबी प्रजापति को सौंपा गया। शिकायत सही पाए जाने पर जल संसाधन विभाग के एसडीओ जलसंसाधन क्रमांक-एक यूपी विश्वकर्मा, एसडीओ जल संसाधन क्रमांक-दो बीएनएस तिवारी और उपयंत्री केसी दुबे को निलंबित किया गया है।

दो साल में ही तहस नहस हो गया काम

कृषक टीकम सिंह सहित कई और किसानों ने शिकायत की थी कि पथखई बांध व नहर का गुणवत्ताहीन कार्य कराया गया जिसके चलते नहर से खेतों में पानी का बहाव नहीं हो पा रहा है। बांध की मिट्टी बहकर नहर में जमा हो गई है और पानी का बहाव रुक गया है। किसानों की शिकायत के बाद भी कोई सुधार कार्य नहीं कराया गया इसके चलते पथखई बांध दो साल में ही इस स्थिति में आ गया कि किसी काम का नहीं रहा और नहरें भी बर्बाद हो गईं।

...................

पथखई बांध के निर्माण कार्य में गुणवत्ता का खयाल नहीं रखा गया इसकी शिकायत की गई थी जिसकी जांच कराई गई। जांच सही पाए जाने पर जल संसाधन विभाग के एसडीओ क्रमांक एक और दो व उपयंत्री को निलंबित किया है।

-आरबी प्रजापति, कमिश्नर शहडोल।

Posted By: Nai Dunia News Network