शहडोल (नईदुनिया प्रतिनिधि)। संभाग में उन्नत खेती को बढ़ावा देने के लिए संभाग के कमिश्नर नरेश पाल ने अधिकारियों की बैठक बुलाई। कमिश्नर ने कहा कि किसानों को उन्नत खेती, पशु पालन, मत्स्य पालन के लिये किसानों को जागरूक करें। किसानों की आय को बढाने के लिये संभाग के किसानों को उन्नत खेती, पशु पालन एवं मत्स्य पालन के लिए जागरूक किया जाए। किसानों को शासन द्वारा संचालित योजनाओं की जानकारी देकर खेती को लाभ धंधा बनाने के लिये प्रेरित किया जाए। उद्यानिकी फसलों का रकवा बढ़ाने के लिए विशेष प्रयास किये जाए। उन्होने कहा कि, उद्यानिकी विभाग के मैदानी अधिकारी एवं कर्मचारी ग्रामीणों से मिलकर उन्हें उद्यानिकी फसलें लगाने के लिये प्रेरित और प्रोत्साहित करें। उद्यानिकी विभाग के अधिकारी ऐसी उद्यानिकी फसलें जिसके अच्छे दाम मिलते हो तथा जिनकी मार्केट में अच्छी डिमांड हो ऐसी फसलें लगाने के लिये किसानों को प्रोत्साहित करे तथा किसानों का सतत मार्गदर्शन करें।

मैदानी स्तर के कर्मचारी सक्रिय रहें

समीक्षा के दौरान कमिश्नर ने निर्देश दिए कि उद्यानिकी विभाग का ब्लाक लेवल का अमला भी सक्रियता के साथ काम करे। जो मैदानी अधिकारी एवं कर्मचारी कार्य नही कर रहे है, ऐसे अधिकारी एवं कर्मचारियों के विरुद्घ सख्त कार्यवाही करें। बैठक में कृषि विभाग की समीक्षा करते हुए कमिश्नर ने चालू रबी सीजन में फसलों की बुआई की जिलेवार समीक्षा की तथा निर्देश दिए कि, किसानों को किसी भी स्थिति में खाद, बीज की कमी नहीं होना चाहिए।

अमानक स्तर की बिक्री करने वालों के खिलाफ हो कार्रवाई

कमिश्नर ने निर्देश दिए कि, किसानों को रबी सीजन की बोबाई के लिए उच्च गुणवत्ता की खाद, बीज उपलब्ध कराएं। कमिश्नर ने निर्देश दिए कि शहडोल संभाग में अमानक स्तर का खाद, बीज बेचने वालों के विरुद्घ सख्त कार्यवाही सुनिश्चित कराएं। बैठक में सहकारिता विभाग की समीक्षा के दौरान कमिश्नर ने किसानों को के्रडिट कार्ड वितरण के संबंध में निर्देश दिए कि, शहडोल संभाग में किसानों, मत्स्य पालको और पशुपालकों को प्राथमिकता के साथ क्रेडिट कार्ड मुहैया कराएं।

संभाग के सभी कलेक्टर कार्ययोजना तैयार करें: कमिश्नर ने निर्देश दिए कि राष्ट्रीयकृत बैंक व सहकारी बैंक किसानों, पशुपालको और मत्स्य पालकों को के्रडिट कार्ड के लिये शिविरों का आयोजन भी करें। इस कार्य के लिये शहडोल संभाग के सभी कलेक्टर कार्य योजना तैयार करें। बैठक में फसल बीमा दावा राशि के भुगतान की समीक्षा करते हुए कमिश्नर ने निर्देश दिए कि, फसल बीमा दावा राशि के पुराने प्रकरणों का भी प्राथमिकता के साथ निराकरण कराना सुनिश्चित कराएं, इसके लिए जिला स्तर पर कलेक्टर की अध्यक्षता में समय-समय पर बैठके आयोजित कर सत्‌त रूप से समीक्षा भी करना सुनिश्चित कराएं।

8 नमूने अमानक स्तर के निकलेः बैठक में कमिश्नर ने सहकारी समितियों के लाइसेंस के नवीनीकरण के लिये शिविरों के आयोजन करने के भी निर्देश अधिकारियों केा दिए। समीक्षा बैठक में संयुक्त संचालक कृषि जीएस पेन्द्राम ने बताया कि, शहडोल संभाग में दलहन एवं तिलहन फसलों की लगभग 99 प्रतिात बोनी हो चुकी है। उन्होंने बताया कि, गेहूं की बोनी भी 65 प्रतिशत तक हो चुकी है, शहडोल संभाग में पर्याप्त मात्रा में बीज उपलब्ध है। उन्होंने बताया कि शहडोल संभाग में खाद और बीज बेचने वालों फर्मों की सघन जांच की गई, 222 नमूनें जांच के लिए भेजे गए जिसमें से 08 नमूनें अमानक स्तर के पाये गए, जिनके विरुद्घ कार्यवाही की जा रही है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस