शहडोल (नईदुनिया प्रतिनिधि)। जिला अस्पताल में डॉक्टरों की कमी को पूरा करने के लिए जिला प्रशासन ने रोगी कल्याण समिति के माध्यम से 4 डॉक्टरों को बढ़ाने का फैसला लिया है। इनमें से 3 डॉक्टरों की तैनाती जिला अस्पताल के बच्चा वार्ड में कर दी गई है वहीं एक महिला डॉक्टर से बात की जा रही है। कलेक्टर के निर्देश पर सीएमएचओ डॉ रोजेश पांडेय ने जयसिंहनगर में पदस्थ डॉ राजेश तिवारी एवं मेडिकल कॉलेज शहडोल में पदस्थ सर्जन डॉ मनीष सिंह की ड्यिूटी जिला अस्पताल के बाल्य रोग विभाग में लगाई है। इसी प्रकार सेवा निवृत्त बाल्य रोग विशेषज्ञ डॉ उमेश नामदेव को पुनर्नियुक्ति की शर्तों के अधीन जिला चिकित्सालय में ड्यिूटी के आदेश जारी किये गए है। उक्त चिकित्सक अब जिला चिकित्सालय शहडोल में अस्वस्थ्य बच्चों की कुशलतापूर्वक चिकित्सकीय सुविधा प्रदान करेगें।

सोनाग्राफी, प्राईवेट वार्ड, डायलिसिस के दरो में बढ़ोत्तरी

रोगी कल्याण समिति की बैठक में निर्णय लिया गया कि रोगी कल्याण समिति की राशि से अब आगे निर्माण कार्य पर व्यय नही किया जाएगा। इसी प्रकार मानदेय पर रखे गए श्रमिको की मजदूरी 4200 रुपएसे बढ़ाकर 5 हजार रुपए करने, सोनोग्राफी का चार्ज एपीएल के व्यक्तियो से 5 सौ रुपए रुपए, एक्स-रे का चार्ज 2 सौ रुपए तथा पैथालॉजी का चार्ज बाजार दर से 25 प्रतिशत कम लिये जाने का निर्णय लिया गया।

प्राइवेट रूम का भी बढा किराया

इसी तरह प्राईवेट वार्ड का सामान्य कक्ष का किराया 4 सौ रुपए से बढ़ाकर 5 सौ रुपए , एसी का एक हजार से बढ़ाकर ग्यारह सौ रुपए , डायलिसिस का एपीएल के व्यक्तियों से 500 की जगह 800 रुपए लिये जाने का निर्णय भी सर्वसम्मति से लिया गया। बैठक में जिला चिकित्सालय की फिजियोथैरपी की मशीन चलाने के लिए व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने का भी निर्णय लिया गया। प्राईवेट वार्ड के 2 शेष कक्षों में विद्युत व्यवस्थाएं पूर्ण कराने के निर्देश कलेक्टर ने सिविल सर्जन को दिए।

निजी अस्पतालों पर कसी जाएगी नकेल

बैठक में कलेक्टर ने निर्देशित किया कि निजी चिकित्सालयों में मुकम्मल व्यवस्थाएं न होने के बावजूद भी भर्ती कर डिलेवरी की जा रही है और स्थिति खराब होने पर मरीजो को जिला चिकित्सालय रेफर कर दिया जाता है। इन स्थितियों की जांच हेतु एक दल गठित कर तत्काल सुविधाओं सहित जांच करे एवं उनके विरूद्व कार्यवाहियां करना भी सुनिद्यिचत करे। बैठक में चिकित्सकीय सुविधाएं बढाने संबंधी अन्य महत्वपूर्ण बिन्दुओ पर विस्तार से चर्चा की गई तथा चिकित्सकीय व्यवस्थाएं सुदृढ करने के निर्देश कलेक्टर ने सिविल सर्जन को दिए।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस