शहडोल (नईदुनिया प्रतिनिधि)। धनपुरी थाने में पदस्थ एक महिला एएसआइ ने थाना प्रभारी ओमेश्वर ठाकरे के ऊपर मानसिक प्रताड़ना सहित कई आरोप लगाते हुए पुलिस अधीक्षक के नाम 20 अक्टूबर को इस्तीफा सौंप दिया जिसके बाद पुलिस महकमें में इस बात को लेकर सनसनी फैल गई। आनन फानन में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मुकेश वैश्य ने धनपुरी जाकर टीआइ एवं महिला एएसआइ को बैठाकर सुलह कराने की कोशिश की पर अभी बात नहीं बनी है। महिला एएसआइ का कहना है कि मेरी 18 साल की नौकरी में आज तक इस तरह किसी अधिकारी ने मानसिक रूप से प्रताड़ित नहीं किया है। यह पहला मौका है कि किसी थाना प्रभारी ने मेरे साथ इस तरह का बर्ताव किया।

इस कारण दिया महिला एएसआइ ने इस्तीफा

महिला एएसआइ ने पुलिस अधीक्षक को इस्तीफा सौंपा है और आरोप लगाया है कि मेरे घरेलू मामलों में दखल करते हैं और बार बार कहते हैं कि यदि नौकरी ठीक से नहीं करना है तो इस्तीफा दे दो। एएसआइ ने कहा कि जबकि मैं अपनी ड्यूटी को बेहद संजीदगी व ईमानदारी से करती हूं। इनका आरोप है कि ड्यूटी पर रहने के बाद भी अपसेंट डाल देते हैं दिमागी तौर पर टॉर्चर करते हैं। बात बात पर बोलते हैं कि धमकी मत देना इस्तीफा ही देना। इसलिए मैेंने परेशान होकर इस्तीफा दे दिया।

अभी सुलह जैसी कोई बात नहीं

महिला एएसआइ ने कहा कि अभी हमारे बीच किसी तरह की सुलह नहीं हुई है। मेरे साथ अभद्रता का व्यवहार न किया जाए। मैंने परेशान होकर ही इस्तीफा दिया है। इनका कहना है कि मुझे काम करने में कोई दिक्कत नहीं है पर मुझे बात बात पर लाइन अटैच कराने की धमकी देते रहते हैं इसलिए काफी मानसिक तौर पर परेशान हो गई हूं।

बर्जन

मामला निपट जाएगा

महिला एएसआइ और धनपुरी थाना प्रभारी के बीच जो मनमुटाव है जिसके कारण इस तरह की स्थिति बन रही है उसे सुलझा लिया जाएगा। हमने दोनों को बैठाकर बातचीत की थी और कोशिश है कि इस मामले का शांतिपूर्ण हल निकाला जाए।

मुकेश वैश्य

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहडोल।

काम के दौरान इस तरह की स्थिति कभी-कभी निर्मित होती हैं। एएसआइ उम्र में मुझसे बड़ी हैं और मेरी बहन जैसी हैं ऐसी कोई बड़ी बात नहीं है वह थोड़ा रूठ गईं हैं मान भी जाएंगीं।

ओमेश्वर ठाकरे

थाना प्रभारी धनपुरी।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local