शहडोल, नईदुनिया प्रतिनिधि। जयसिंहनगर विकासखंड के पोड़ी गांव के माध्यमिक स्कूल में गंदी गणवेश पहनकर आने पर शिक्षक ने शुक्रवार को आदिवासी बालिका के कपड़े उतरवा दिए। इसके बाद छात्र-छात्राओं के सामने ही वह गणवेश धोने लगा। करीब दो घंटे बाद जब गणवेश सूखी, तो छात्रा को कक्षा के अंदर जाने दिया। शिक्षक ने खुद को स्वच्छता मित्र बताते हुए बालिका के कपड़े धुलने की फोटो विभागीय ग्रुप में भी साझा कर दी। फोटो इंटरनेट मीडिया में प्रसारित होने के बाद आदिवासी विकास कल्याण विभाग ने शनिवार को उसे निलंबित कर दिया है।

जनशिक्षा केंद्र पोड़ी अंतर्गत शासकीय प्राथमिक स्कूल बराटोला में पांचवीं की 10 वर्षीय छात्रा गंदी गणवेश पहनकर स्कूल आई थी। इस पर शिक्षक श्रवण कुमार त्रिपाठी ने नाराजगी जताते हुए कपड़े उतरवा दिए और स्वच्छता की बात कहते हुए खुद गणवेश धोने लगा। जब ग्रामीणों को इस घटना का पता चला तो उन्होंने नाराजगी जताई और शिक्षक की हरकत को गलत बताते हुए जांच और कार्रवाई की मांग की। आदिवासी विकास कल्याण विभाग के सहायक आयुक्त आनंद राय सिन्हा ने शिक्षक ने बताया कि शिक्षक की हरकत ठीक नहीं थी, इसलिए उसे निलंबित किया कर दिया है।

Posted By: tarunendra chauhan

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close