शहडोल(नईदुनिया प्रतिनिधि)।

जिले के गोहपारू थाना क्षेत्र के भुरसी गांव में जंगली जानवरों के शिकार के लिए फैलाएं गए करंट में फंसकर रामबहोर पुत्र राम प्रसाद सिंह 37 वर्ष निवासी भुरसी मौत हो गई है। यह घटना 18 जनवरी की रात उस समय हुई जब रामबहोर अपने घर से अपने खेत के लिए निकला था। वह खेत के आसपास धुआं करने के लिए आग जलाने जा रहा था। उसी समय रात के अंधेरे में शिकार के लिए खुले जी आई तार में फैलाए गए करंट में फंस गया और मौत हो गई।

दूसरे दिन दी थी पुलिस को सूचनाः दूसरे दिन तक जब घर वापस नहीं लौटा तो स्वजन ने पुलिस में सूचना दर्ज कराई। पुलिस ने गुमशुदगी कायम कर मामले की जांच शुरू की तो वहीं पास में ही नाले में शव मिला। जांच के दौरान पाया गया की जिन लोगों ने शिकार के लिए करंट फैलाया था उन्होंने शव को उठाकर नाले में फेंक दिया था।

इन्होंने फेंका था नाले में शवः बुद्घसेन, संतोष सिंह, राजेंद्र सिंह, राम कृपाल सिंह, अमृतलाल सिंह, राजेश सिंह ,चिंता सिंह ने मिलकर शव को नाले में फेंका था और इन्हीं लोगों ने शिकार के लिए रात में करंट फैलाया था। सभी आरोपितों के खिलाफ गोहपारू पुलिस ने अपराध दर्ज किया और गिरफ्तार भी कर लिया है। इस मामले को सुलझाने में थाना प्रभारी गोहपारू डी एस पांडे, एसआई विपिन बागरी, राजवेंद्र सिंह, राकेश शुक्ला, सुनील मिश्रा, भूमिका रही। टीआई ने बताया कि सभी आरोपितों को रविवार के दिन गिरफ्तार कर लिया गया है और न्यायालय में पेश कर दिया गया है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local