आगर-मालवा(नईदुनिया न्यूज)। जिले के सालरिया अभयारण्य में 22 नवंबर को मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान आए। उनके कार्यक्रमों के अंतर्गत गौसेवा से जुड़े देशभर के विशिष्टजन की संगोष्ठी आयोजित की गई। इसमें गौ संरक्षण एवं संवर्धन तथा गौशालाओं के प्रबंधन संबंधी कई प्रस्ताव सामने आए। इनमें गौशालाओं का संचालन इच्छुक स्वयंसेवी संस्थाओं को देने की सरकार के प्रस्ताव का सभी उपस्थित प्रतिनिधियों ने स्वागत किया। इसी के साथ स्थानीय नस्लों की गायों को संरक्षित करने के लिए भी कार्ययोजना बनाए जाने का प्रस्ताव सामने आया।

सीएम चौहान ने परिचर्चा के दौरान कहा कि गौसेवा में संलग्न सभी संस्थाओं के प्रतिनिधियों और संत समाज से चर्चा कर मध्यप्रदेश में गौ पालन की नई नीति बनाएंगे। सीएम ने कहा कि गोपाष्टमी पर आज मध्यप्रदेश में गौसेवा के लिए समेकित नीति बनाए जाने की शुरूवात गो केबिनेट की पहली बैठक के साथ कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि गौशालाओं का संचालन केवल सरकार अकेले करे, इससे बेहतर है कि इसमें श्रद्घा, आस्था और समर्पण भाव रखने वाली विभिन्न स्वयंसेवी संस्थाओं को भी जोड़ा जाए। उन्होंने कहा कि शीघ्र ही इस संबंध में सभी संस्थाओं के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग द्वारा वर्चुअल मीटिंग की जाएगी, जिससे सभी के सुझाव वृहद् रूप में प्राप्त हो सकें। इसी के आधार पर मध्यप्रदेश में नई गो नीति बनाएंगे।

ये आए सुझाव

संगोष्ठी में सुसनेर विधायक राणा विक्रमसिंह ने कहा कि सालरिया में जो गौ अभयारण्य सीएम चौहान ने बनवाया है,से सुसनेर और जिले को एक पहचान मिली है, लेकिन अभी दुर्भाग्यवश आसपास के जिलों से वृद्घ, बीमार और पॉलीथिन खाने के कारण मृत्यु की कगार पर जा पहुंची गायों को यहां लाकर छोड़ा जा रहा है। ऐसे में इनकी मृत्यु पर हमें अपयश का भागी भी बनना पड़ता है। उन्होने सुझाव दिया कि इस तरह की गायों का उपचार वे जहां हैं, वहीं पर करवाएं जाने की व्यवस्था सुनिश्चित की जाना चाहिए।

ये थे उपस्थित

बैठक में पशुपालन मंत्री पटेल के साथ ही भुवनेश्वरी विद्या पीठ गोडल गुजरात के घनश्याम महाजन, हिगोनिया गौशाला जयपुर राजस्थान के राधाप्रियदास अक्षयपात्र, कृष्णायन संस्था हरिद्घार के ऋषभानंदजी, समाजसेवी बाल बांग्रे, बंशीगीर गौशाला अहमदाबाद गुजरात के गोपाल भाई सुतारिया, गीर गो जतन संस्था गोडल राजकोट के रमेशभाई रूपारेलिया, बंशी गो धाम काशीपुर उत्तराखंड के नीरज चौधरी, त्रिकुटा आयुर्वेदी रिसर्च प्रालि. व त्रिकोठा गोधाम तीर्थ जबलपुर के डॉ.आरसी दीक्षित, राजेशजी, हिमाचल प्रदेश के वल्लभ चोटानी, भारतभारती गौशाला बैतूल के मोहन नागर, महासचिव दयोदय महांसघसागर के वीरेन्द्र जैन, राकेश जैन, सोहन विश्वकर्मा, विहिप के वरिष्ठ हुकमचंद सांवला, स्वामी हरिओमानंद, स्वामी अमृतलानंदजी रानीघाटी एवं गौ संवर्धन बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष अखिलेश्वरानंदजी गिरी आदि उपस्थित थे।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस