नलखेड़ा। नागेश्वर तीर्थ पर जैन समाज के चल रहे 10 दिवसीय धार्मिक आयोजन के अंतिम दिवस शनिवार को नूतन जिनालय दादावाड़ी के द्वार उद्घाटन, सत्तरभेदी पूजन, दादा गुरुदेव पूजन के साथ अंजनशलाका प्रतिष्ठा महोत्सव की पूर्णाहुति हुई। कार्यक्रम में पावन निश्रा प्रदान करने के लिए पधारे आचार्यश्री एवं अन्य गुरु भगवंतो का विहार नागेश्वर तीर्थ से अष्टापद तीर्थ की ओर हुआ। जहां पर आचार्यश्री दीक्षा समारोह कार्यक्रम में भाग लेंगे।

श्री सीमंधर कुशल प्रतिष्ठा महोत्सव समिति के मीडिया प्रभारी राजेंद्र सकलेचा (नलखेड़ा) ने बताया कि जैन श्वेताम्बर समाज द्वारा नागेश्वर तीर्थ पर श्री जिन कुशल सूरी दादावाड़ी परिसर में श्रीसीमंधर स्वामी नूतन जिनालय में अंजनशलाका प्रतिष्ठा का 10 दिवसीय धार्मिक आयोजन 12 मई से प्रारंभ हुआ था। महोत्सव के अंतिम दिवस शनिवार को सुबह ब्रम्ह महूर्त में नूतन जिनालय एवं दादावाड़ी का द्वार उद्घाटन लाभार्थी परिवारों द्वारा खरतरगच्छाचार्य शासन प्रभावक श्री जिन पीयूषसागरसुरिश्वरजी महाराज सा द्वारा अपने मुखारविंद से बोले गए मंत्रोच्चार के साथ किया तथा मंदिर पट पर लगे चांदी के ताले को खोलकर उपस्थित श्री संघ को परमात्मा एव दादा गुरुदेव के दर्शन करवाए गए। इस मौके पर आचार्यश्री एव साध्वी चन्दनबालाजी आदि साध्वी मंडल द्वारा चैत्य वंदन विधि करवाई गई। इसके पूर्व बैंड-बाजों के साथ चल समारोह निकाला गया जिसमें लाभार्थी परिवार पूजन सामग्री लेकर चल रहे थे। शनिवार को ही मन्दिरजी मे सत्तर भेदी पूजन लाभार्थी राजेंद्रकुमार सुनीताजी भंडारी परिवार इंदौर द्वारा करवाई गई। दादा गुरुदेव पूजन लाभार्थी अमरादेवी मिलापचंदजी बरडिया परिवार रायपुर द्वारा दादावाड़ी में करवाई। पूजन में बड़ी संख्या में समाजजन शामिल थे।

मंत्री सकलेचा पहुंचे प्रतिष्ठा कार्यक्रम में: नागेश्वर तीर्थ प्रतिष्ठा महोत्सव कार्यक्रम में भाग लेने के लिए शुक्रवार को प्रदेश सरकार के सूक्ष्म, मध्यम एवं लघु उद्योग मंत्री ओमप्रकाश सकलेचा पहुंचे। जहां उन्होंने मंदिर प्रतिष्ठा कार्यक्रम में भाग लेकर मंदिर एवं दादावाड़ी में देव दर्शन किए। तत्पश्चात आचार्यश्री एवं साध्वी चंदनबालाश्रीजी से आशीर्वाद लेकर चर्चा भी की। मंत्री सकलेचा के कार्यक्रम में पहुंचने पर श्री सीमंधर कुशल प्रतिष्ठा महोत्सव समिति की ओर से उनका अभिनंदन कर बहूमान भी किया गया। प्रतिष्ठा महोत्सव के दौरान झालावाड़ जिला कलेक्टर भारती दीक्षित ने कार्यक्रम में भाग लेकर मंदिर में परमात्मा नागेश्वर दादा के दर्शन किए तथा नूतन जिनालय एवं दादावाड़ी भी पहुंची। जहां दर्शन उपरांत साध्वी चंदनबाला श्रीजी से आशीर्वाद प्राप्त कर चर्चा की गई। इस अवसर पर कलेक्टर का नागेश्वर तीर्थ पेढ़ी सचिव धर्मचंद जैन, दादावाड़ी ट्रस्ट के अध्यक्ष वीरेंद्र बाफना सचिव बसंतसिंह श्रीमाल, सुरेश बाठिया, नरेंद्र लोढा आदि के द्वारा प्रतीक चिन्ह, चुनर एवं श्रीफल भेंट कर सम्मान किया गया।

आचार्य श्री ने किया विहारः नूतन जिनालय में विराजित मूल नायक परमात्मा श्रीसीमंधर स्वामीजी की प्रतिष्ठा के बाद पहली मनमोहक अंगिरचना की गई। प्रतिष्ठा महोत्सव कार्यक्रम में पावन निश्रा प्रदान करने के लिए आचार्य श्री जिन पीयूष सागर सुरिश्वरजी व अन्य गुरु भगवन्तों का आगमन नलखेड़ा की प्रतिष्ठा महोत्सव संपन्ना कराने के बाद नागेश्वर तीर्थ पर हुआ था। शनिवार को तीर्थ स्थल पर नूतन जिनालय व दादावाड़ी के द्वार उद्घाटन के बाद आचार्यश्री का नागेश्वर तीर्थ से अष्टापद तीर्थ के लिए विहार हुआ जहां 25 मई को होने जा रही दो दीक्षार्थी बहनों के दीक्षा समारोह कार्यक्रम में आप भाग लेंगे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close