कोरोना का खौफ : जब एक-दूसरे का साथ देना है तव भी मामूली बातों पर हो रहे विवाद

मोहित व्यास . शाजापुर (नईदुनिया)। हर तरफ कोरोनो (कोविड-19) का खौफ है, इससे बचने के लिए हर कोई घरों में रहकर इससे मुक्ति पाना चाहता है। बावजूद कु छ लोग ऐसे हैं जो संकट और जान जोखिम के इस समय में लड़ाई-झगड़े, चोरी, छेड़छाड़ और अवैध शराब के परिवहन में लगे हैं। लॉकडाउन और कोरोना के डर से जिले में अपराधों में कमी तो आई है, कि ंतु बदमाश अब भी सड़क पर घूम रहे हैं। यही कारण है कि लॉकडाउन के तीन के दिन में हर दिन पुलिस को विभिन्न शिकायतें मिली और थानों में प्रकरण भी दर्ज हुए।

लॉकडाउन के तीन दिन में जिले के थानों में 18 प्रकरण दर्ज कि ए गए हैं। इनमें 15 मामले लॉकडाउन के तीन दिन के अंदर सामने आए हैं। जबकि तीन मामले 25 मार्च के पहले सामने आए थे कि ंतु प्रकरण बाद में दर्ज कि ए गए। खास बात यह है कि जब लॉकडाउन और कोरोना के खौफ से हर कोई घरों में रहकर घातक बीमारी से बचने का प्रयास कर रहा है। तव भी दूसरी और आसमाजिक तत्व और बदमाश अपनी हरकत और वारदात करने से नहीं चूक रहे हैं। लॉकडाउन को अभी तीन दिन ही हुए हैं। इन तीन दिनों में जिले में चोरी, मारपीट, प्राण घातक हमला, छेड़छाड़ और शराब के अवैध परिवहन के मामले सामने आए हैं। सवाल यही है कि जब जान जोखिम में है, हर तरफ संकट की स्थिति है। ऐसे समय में लोग शांति-सद्भाव के साथ रहने की बजाय लड़ाई-झगड़े और अवैध कार्य करने से नहीं चूक रहे हैं।

आधी हुई अपराधों की संख्या

कोरोना के खौफ और लॉकडाउन के चलते जिले में अपराधों में खासी कमी आई है। जानकारी अनुसार जिले में औसतन हर दिन करीब 12 प्रकरण दर्ज होते हैं। जबकि लॉकडाउन के तीन दिन में हर दिन छह-छह मामले ही सामने आए हैं। इसके अलावा भी जब से कोरोना का खौफ व्याप्त हुआ है। जिले में अपराधों में कमी आई है। हालांकि इसके बावजूद पुलिस को राहत नहीं मिल सकी है। कोरोना के डर से भले ही अपराधी घरों में हैं, कि ंतु बिना कारण सड़क पर घूमने वाले लोगों को रोकने के लिए पुलिस को चौराहों पर तैनात रहना पड़ रहा है।

बॉक्स लगाएं

लॉकडाउन के तीन दिन में दर्ज प्रकरण

पहला दिन-25 मार्च : जिलेभर के थानों में कु ल 6 प्रकरण दर्ज हुए। इनमें एक प्रकरण 23 मार्च का है, जांच के बाद के स दर्ज हुआ। जबकि पांच मामले लॉकडाउन के पहले दिन 25 मार्च को सामने आए। इनमें तीन मामले मारपीट और दो मामले अवैध शराब परिवहन के दर्ज कि ए गए।

दूसरा दिन-26 मार्च : जिलेभर के थानों में 6 प्रकरण दर्ज कि ए गए। इनमें मारपीट का एक मामला 22 मार्च और दो मर्ग के स 25 मार्च के हैं जबकि तीन मामले 26 मार्च को सामने आए। इनमें एक मामला प्रतिबंधात्मक धारा-144 के उल्लंघन और दो मामले मारपीट के दर्ज कि ए गए हैं।

तीसरा दिन-27 मार्च : जिले के थानों में 6 प्रकरण दर्ज हुए। इनमें सुंदरसी थाना क्षेत्र में चोरी सहित छेड़छाड़, प्राण घातक हमला, मर्ग, 34 आबकारी एक्ट और मारपीट का एक-एक मामला है। सभी मामलों में पुलिस जांच कर रही है। चोरी के मामले में करीब 22 हजार का माल बदमाश ले गए हैं।

लॉकडाउन का पालन करें

कोरोना कोविड-19 काफी घातक समस्या है। इससे बचने के लिए लॉकडाउन का सख्ती से पालन कराना जरुरी है। नौकरी, व्यवसाय की व्यस्तता के चलते अधिकांश लोग स्वजन को समय नहीं दे पाते। कई लोग ऐसे हैं जो अपने परिवार वालों के साथ बैठकर कु छ समय भी नहीं बीता पाते। लॉकडाउन उनके लिए सुनहरा अवसर है। इसका पालन कर वह कोरोना से भी बचाव कर सकते हैं और परिवार को भी समय दे सकते हैं। दूसरी और जो लोग बिना कारण सड़क पर घूम रहे हैं, उनके लिए पुलिस तैनात है। सलाह, समझाइश देकर उन्हें घर भेजा जा रहा है।

-आरएस प्रजापति, एएसपी

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना