- जिले में लगातार बढ़ रहा कोरोना संक्रमण, छह स्वस्थ होकर घर पहुंचे

शाजापुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। जिले में कोरोना संक्रमित मरीज लगातार सामने आ रहे हैं। शनिवार को कोरोना के आठ नए मरीज मिले हैं। इनमें से चार मरीज शाजापुर शहर के विभिन्ना इलाकों के निवासी हैं। उल्लेखनीय है कि बीते महीने जिला मुख्यालय पर कोरोना मरीजों की संख्या में कमी आई थी, किंतु अब फिर लगातार मरीज सामने आ रहे हैं। जिले में अभी 107 मरीज सक्रिय हैं, जिनमें से 16 मरीज दूसरे जिलों में उपचार करा रहे हैं और 91 मरीज शाजापुर शुजालपुर में उपचाररत हैं। कोरोना से जिले में अब तक 22 मरीजों की मौत हो चुकी है।

कोविड-19 सेल प्रभारी एवं डिप्टी कलेक्टर जूही गर्ग ने बताया कि नए मरीजों को मिलाकर जिले में अब तक 1518 मरीज मिल चुके हैं। कुल 107 मरीज अभी सक्रिय हैं। शनिवार को कोरोना के आठ नए मरीज मिले हैं। इनमें चार शाजापुर शहर के निवासी हैं, जो शहर के सिद्धार्थनगर, भावसार सेरी सोमवारिया बाजार और गवली मोहल्ला क्षेत्र के निवासी हैं। मरीजों में एक महिला और छह पुरुष शामिल हैं। नए मरीजों का उपचार शुरू कर दिया गया है। जिले में संक्रमण की रोकथाम के लिए कवायद की जा रही है। लोगों को जागरूक करने के लिए भी विभिन्ना प्रकार के प्रयास किए जा रहे हैं।

जिले में 91 का उपचार जारी

जिले में अभी 107 मरीज सक्रिय हैं। इनमें से 60 मरीज शाजापुर के जिला अस्पताल शाजापुर, कोविड केयर सेंटर और होम आइसोलेशन में उपचाररत हैं। शुजालपुर में 31 मरीज अस्पताल, कोविड केयर सेंटर और होम आइसोलेशन में हैं। इस तरह शाजापुर जिले में कुल 91 मरीज उपचाररत हैं। इसके अलावा दूसरे जिलों में भर्ती रहकर 16 मरीज उपचार करा रहे हैं। शनिवारवार को अस्पताल, कोविड केयर सेंटर और होम आइसोलेशन से स्वस्थ्य होकर छह मरीज डिस्चार्ज भी हुए हैं।

संक्रमण से बचने के लिए सावधानी जरूरी

डिप्टी कलेक्टर जूही गर्ग ने कहा कि लगातार मरीज मिल रहे हैं। इन हालातों में लोगों को पहले से अधिक सावधानी बरतने की जरूरत है। बहुत जरूरी होने पर ही घर से बाहर निकलें। मुंह पर मास्क लगाएं, शारीरिक दूरी के नियम का पालन करें और स्वच्छता का विशेष ध्यान रखें। बार-बार हाथ धोते रहें। उन्होंने बताया कि संक्रमण से बचने के लिए सुरक्षात्मक उपाय ही सबसे कारगर हैं। थोड़ी भी लापरवाही किसी को भी कोरोना संक्रमण का शिकार बना सकती है। उन्होंने कहा कि कई क्षेत्रों में लोगों द्वारा स्वास्थ्य खराब होने के बावजूद स्वास्थ्य परीक्षण नहीं कराने की बात भी सामने आई है। उन्होंने आग्रह किया है कि अगर किसी का भी स्वास्थ्य खराब है। तो उन्हें आगे आकर परीक्षण कराना चाहिए। जिससे समय पर बीमारी की पहचान और उपचार किया जा सके। कई स्थानों पर सामने आया कि मरीज की हालत गंभीर होने पर वह अस्पताल आए। जिससे उनके उपचार में कई दिक्कतें आईं।

आंकड़ों में कोरोना

- 1518 अब तक कुल मरीज

- 22 मरीजों की अब तक मौत

- 1389 मरीज अब तक स्वस्थ्य हुए

- 107 मरीज जिले में अभी सक्रिय

- 91 मरीज जिले में भर्ती

- 16 मरीज जिले के बाहर भर्ती

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस