बेरछा। अश्विन नवरात्र के अंतिम दिन माता की आराधना कर रहे भक्त दिन भर पूजा अर्चना में डूबे रहे। घरों पर कुल देवी की पूजन के पश्चात देवी मंदिरों में भी दिन भर भीड़ रही।

स्थानीय मां प्रभावेश्वरी माता मंदिर में नवमी पर दुर्गा महायज्ञ पं संतोष शर्मा के आचार्ययत्व में संपन्ना हुआ। इसी प्रकार कन्या भोज समिति द्वारा प्रतिवर्षानुसार इस वर्ष भी समिति द्वारा प्रतिदिन कन्या भोज कराया गया। इसी क्रम में बेरछा ग्राम में स्थित भवानी माता मंदिर में नो दिनों तक चला आराधनाओं का दौर यजमानों ने हवन व पूर्ण आहुति के बाद

समापन किया गया। वहीं रात में प्रतिदिन गरबा मंडली द्वारा मनमोहक गरबों की प्रस्तुति दी गई।

कालीसिंध में गूंजे मां के जयकारे

कालीसिंध। शारदीय नवरात्रि पर्वोत्सव चलते नगर के गायत्री शक्तिपीठ पर हिन्दू युवा संगठन के नवयुवकों द्वारा मां दुर्गा का आकर्षक श्रृंगार कर ढोलढमाकों से आरती की। पंडित मुकेश शर्मा के मार्गदर्शन में युवक-युवतियां भक्तिगीतों की धुन पर गरबा कर रही थीं। गायत्री शक्तिपीठ, भेरुघाट परिसर में आकर्षक विद्युत साा की गई। गत दिवस कन्याभोज भी किया गया।

नवरात्रि पर्वोत्सव के चलते मां दुर्गा, लक्ष्मी, मां गायत्री की भी नौ दिन तक महाआरती की गई। वहीं कई भक्तो द्वारा मां की अराधना में चालीसा पाठ, पूजा माता का श्रृंगार अभिषेक, प्रसादी वितरण सहित धार्मिक अनुष्ठान प्रतिदिन किए गए।

माता को 56 भोग लगाकर की महाआरती

शुजालपुर। नवरात्र के दौरान फ्रीगंज क्षेत्र जय गणेश नव दुर्गा उत्सव समिति द्वारा बनाई गई झांकी में मंगलवार रात को नगर की समाजिक संस्था वी केयर के सदस्य ने पहुंचकर माता को 56 भोग लगाकर महाआरती की। बताया जाता है कि इस झांकी में समिति के सदस्यों ने नारी शक्ति के सम्मान व अपराध को रोकने के कोटेशन के साथ सज्जा की है, जो कि नगर में आकर्षण का केन्द्र रही। महिला अपराधों में हो रही लगातार बढ़ोतरी को देखते हुए समाज को सकारात्मक संदेश देने के लिए फ्रीगंज क्षेत्र की जय गणेश नव दुर्गा उत्सव समिति के सदस्यों ने इस वर्ष माता के पंडाल में नारी शक्ति के सम्मान व अपराध को रोकने के कोटेशन के साथ सज्जा की। बीते 29 वर्ष से जय गणेश उत्सव समिति द्वारा मां नवदुर्गा की पूजा कर सार्वजनिक पंडाल में मूर्ति स्थापना कर हर वर्ष आकर्षक स्वरूप में पंडाल बनाया जाता है। इस वर्ष आयोजकों ने समाज में महिलाओं के प्रति सम्मान व सुरक्षा का संदेश देने व अपराधों को रोकने के लिए नजर नहीं नजरिया बदलने सहित कई अन्य कोटेशन के बोर्ड लगाकर पंडाल को सजाया। जहां सप्तमी पर महाआरती की। जिसमें बड़ी संख्या में शहर के नागरिकों ने हिस्सा लेकर प्रसादी का लाभ लिया।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local