आगर-मालवा। दिव्यांगजन किसी से कम नहीं हैं, यह भाव हर दिव्यांग के मन में होना चाहिए। दिव्यांगजन का जन्म एक विशेष प्रतिभा के साथ होता है। इसलिए दिव्यांग स्वयं को कमजोर न समझें, कोशिश करें, आगे बढ़े और जिले का गौरव बनें।

यह बात कलेक्टर अवधेश शर्मा ने शुक्रवार को विश्व दिव्यांग दिवस के अवसर पर पुरानी कृषि उपज मंडी आगर में सामाजिक न्याय एवं निः शक्तजन कल्याण विभाग द्वारा आयोजित जिला स्तरीय कार्यक्रम में दिव्यांगजनों का सम्बोधित करते हुए बतौर मुख्य अतिथि कही। कलेक्टर ने अपने संबोधन में सर्वप्रथम दिव्यांगों को विश्व दिव्यांग दिवस की शुभकामनाएं दी।

कलेक्टर ने आगे कहा कि टैलेंट किसी भी चीज का मोहताज नहीं होता है, शारीरिक अक्षमता होते हुए भी दिव्यांग बहुत अच्छा कार्य करते हैं। दिव्यांगजन आज अपनी प्रतिभाओं के दम पर हर क्षेत्र में आगे हैं। दिव्यांगजनों के जीवन को सुखमय बनाने हेतु भी शासन नित नए कार्य कर रहा है। स्कूल, मंदिर, हॉस्पिटल अन्य सार्वजनिक जगह पर सरकार द्वारा उनके उतरने-चढ़ने हेतु रैंप बनाए जा रहे, बसों में भी दिव्यांगजनों को किराए में छूट प्रदान की जा रही है। कलेक्टर ने कहा कि प्रशासन द्वारा दिव्यांगजनों की समस्याओं के निराकरण के लिए गांव-गांव में शिविर लगाकर समस्याओं का समाधान किया जाएगा। यह हम सब की जवाबदारी है इन्हें शासन द्वारा संचालित योजनाओं का लाभ मिलना चाहिए। आजादी के अमृत महोत्सव के अंतर्गत आयोजित इस कार्यक्रम का शुभारम्भ अतिथियों द्वारा मां सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्वलन कर किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता भाजपा जिलाध्यक्ष गोविंदसिंह बरखेड़ी ने की। जबकि एसपी राकेश कुमार सगर, जिला पंचायत अध्यक्ष कलाबाई

गुहाटिया, जिला पंचायत सीईओ दीतू सिंह रणदा, प्रभारी उपसंचालक सामाजिक न्याय विभाग एस कुमार, विशिष्ट अतिथि के रूप में मंचासीन रहे। शिविर में दिव्यांगों की प्रतिभा लोगों के सामने आए, इसके लिए विभिन्न प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया।

सामर्थ्य प्रदर्शन हेतु खेल, चित्रकला, डांस सहित अन्य प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में उड़ान स्कूल के दिव्यांग बधाों ने सांस्कृतिक कार्यक्रम की मनमोहक प्रस्तुति दी।

दिव्यांग आगे आकर योजनाओं का लाभ लें: कार्यक्रम को संबोधित करते हुए भाजपा जिलाध्यक्ष बरखेड़ी ने कहा कि यह बड़ी खुशी की बात है कि हमारे जिले में सामाजिक न्याय विभाग एवं प्रशासन द्वारा दिव्यांगजनों को उनकी आवश्यकता अनुसार शासन की योजना का लाभ दिया जा रहा हैं, जो की प्रशंसनीय हैं। उन्होंने कहा कि केन्द्र एवं प्रदेश सरकार हर वर्ग के कल्याण के लिए कार्य रही हैं। दिव्यांगजनों के लिए भी अन्य योजना बनाकर संचालित की गई, जिसका आगे आकर लाभ लें। वही एसपी सगर ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा प्रतिवर्ष 3 दिसंबर को दिव्यांग दिवस मनाया जाता हैं। इसका उद्देश्य समाज के विकास में सभी की सहभागिता सुनिश्चित हो, जो दिव्यांग हैं उनकी विशेष आवश्यकता की पूर्ति कर समानता का माहौल सभी को मिलें। कार्यक्रम की रूपरेखा सामाजिक न्याय विभाग के नीलेश झांसिया ने रखी।

दिव्यांगों को भेंट किए उपकरण : कार्यक्रम में अतिथियों ने प्रतियोगिताओं में विजेता दिव्यांग बच्चों को उपहार वितरित किए। मंच से अतिथियों ने 8 दिव्यांगजनों को ट्राईसिकल, 3 ह्वील चेयर, 3 बहुविकलांग बधाों को मिनी वॉकर, 5 को बैसाखी एवं 1 को ब्लाइंड स्टीक प्रदान की। संचालन रजनीश स्वर्णकार एवं रीना शर्मा ने किया।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close