शुजालपुर। शासकीय जेएनएस महाविद्यालय की राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई के सात दिवसीय संस्था स्तरीय नेतृत्व प्रशिक्षण शिविर का शनिवार को औपचारिक समापन किया गया। अध्यक्षता महाविद्यालय प्राचार्य डॉ राजेश कुमार शर्मा ने की। साथ ही स्वयं सेवकों ने मिमिक्री नाटक एवं लोक नृत्य जैसी कलाओं का प्रदर्शन किया।

मुख्य अतिथि सरपंच भगवान सिंह राठौड़ ने शिविर कीसराहना करते हुए कहा कि युवाओं ने ग्राम में रहकर शौचालय मुक्त ग्राम, रोड निर्माण,सार्वजनिक,स्थलों की सफाई कर गांव में स्वच्छता की अलख जगाई है। सात दिवसीय शिविर के दौरान विश्वव्यापी बीमारी कोरोना को लेकर सावधन रहने और इसके बारे में फैली गलत फहमियों को जागरूक कर दूर किया है। इसके अलावा बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ,नशा मुक्ति जैसे विभिन्न विषय पर जन-जागरूकता रैली का आयोजन कर ग्रामीणो में को एक संदेश देने का प्रयास किया है। विशेष अतिथि डॉ प्रवीणा धारीवाल ने

राष्ट्रीय सेवा योजना के कार्यक्रमो की तारीफ करते हुए कहा कि यही कारण है कि राष्ट्रीय सेवा योजना की एक अलग ही पहचान बनी है। प्रोफेसर नेमीचंद सांखला ने स्वयं सेवको की प्रशंसा करते हुएकहा कि भीड़ से अलग हटकर अपनी पहचान बनाने वाला होता है राष्ट्रीय सेवा योजना का स्वयंसेवक। मंगल सिंह राठौड़,भेरूलाल मेवाड़ा,अर्जुन सिंह चैहान,सत्येंद्र वर्मा ने भी अपने विचार व्यक्त करते हुए स्वयंसेवको द्वार किए कार्यो को प्रशंसनीय बताया।

कार्यक्रम अधिकारी डॉक्टर योगेंद्र वर्मा ने शिविर दर्पण का अवलोकन करते हुए अतिथियों को बताया कि किस प्रकार स्वयंसेवको ने सातों दिवस गतिविधियां में भाग लिया। कार्यक्रम में श्रेष्ठ स्वयंसेवक एवं स्वयंसेविका को शील्ड प्रदान कर सम्मान किया गया। कार्यक्रम का संचालन वरिष्ठ स्वयंसेवक सोमेश खन्ना व हरिओम जोहर ने किया व आभार डॉ मुकेश मेवाड़ा ने माना।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local