शाजापुर। शहर के नीमवाड़ी मौहल्ले में स्थित श्रीराम मंदिर की जमीन पर अवैध कब्जा है। जबकि जमीन को लेकर हाईकोर्ट और जिला कोर्ट मंदिर समिति के पक्ष में फैसला दे चुकी हैं। बावजूद शाजापुर जिला प्रशासन मंदिर की बेशकीमती जमीन पर से कब्जा नही हटवा पा रहा है। इसे लेकर हिंदु संगठनों में खासा आक्रोश है। मामले को लेकर गणतंत्र दिवस समारोह में शामिल होने आए जिले के प्रभारी मंत्री ब्रजेंद्रसिंह यादव को हिंदु संगठन के पदाधिकारी और कार्यकर्ताओं द्वारा ज्ञापन सौंपकर कब्जा हटवाने की मांग की है। जल्द कार्रवाई नही होने पर उग्र आंदोलन की चेतावनी दी गई है।

श्रीराम मंदिर नीमवाड़ी संघर्ष समिति द्वारा जमीन से कब्जा हटाने की मांग को लेकर जिला प्रशासन से लेकर तहसीलदार तक को लिखित आवेदन देकर कब्जा हटाने की मांग की गई। किंतु जिम्मेदार अधिकारियों ने इस ओर ध्यान नही दिया। जिसे लेकर हिंदु संगठनों में खासी नाराजगी देखी जा रही है। गणतंत्र दिवस के मौके पर संगठनों द्वारा पशुराम तिराहा दुपाड़ा रोड पर जमकर नारेबाजी कर प्रभारी मंत्री ब्रजेंद्र सिंह यादव को ज्ञापन सौंपा है और 15 दिन में अतिक्रमण हटाने की मांग की है।

हिंदु संगठनों द्वारा सौंपे गए ज्ञापन में उल्लेख है कि नीमवाड़ी स्थित श्रीराम मंदिर की भूमि पर कब्जा किया गया है। जबकि संबंधित भूमी देवस्थान सूची में दर्ज होकर शासकीय भूमि सर्वे क्रमांक 321/5 रकबा 2.184 है। नजूल आबादी नई सड़क नीमवाड़ी में स्थित है। दस्तावेजों में हेरफेर कर मंदिर की भूमि का विक्रय किया गया। जबकि न्यायाधीश प्रथम श्रेणी शाजापुर न्यायालय ने संबंधित भूमी को मंदिर की भूमि मानते हुए विक्रय पत्र को अवैध करार दिया था। हाईकोर्ट ने भी फैसले को सही ठहराया। बावजूद कब्जे नही हटाए गए हैं।

-हमारे द्वारा कई वर्षों से मंदिर की भूमि पर से अतिक्रमण हटाने की मांग की जा रही है। कलेक्टर दिनेश जैन को भी ज्ञापन दिया गया। किंतु अब तक मामले में कोई ठोस कार्रवाई नही की गई। हमने प्रभारी मंत्री को ज्ञापन सौंपकर कब्जा हटाने की मांग की है। 15 दिन में अतिक्रमण नहीं हटाया गया तो पूरे जिले में उग्र आंदोलन किया जाएगा।

-दिलीप भंवर, अध्यक्ष, हिन्दू उत्सव समिति

-हिंदू संगठन पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं द्वारा श्रीराम मंदिर की भूमी पर कब्जा होने को लेकर ज्ञापन दिया गया है। मंदिर की भूमी से जुड़ा मामला पहली बार मेरे संज्ञान में आया है। यदि न्यायालय का फैसला है और मंदिर की भूमि है। तो उसे जल्द अतिक्रमण मुक्त करवाया जाएगा। इसे लेकर मैंने अधिकारियों को दिशा-निर्देश दिए हैं।

- बृजेंद्र सिंह यादव, प्रभारी मंत्री

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local