आगर-मालवा (नईदुनिया न्यूज)। मालवा क्षेत्र के आगर-मालवा जिले में 22 नवंबर को होने वाली पहली गो कैबिनेट की बैठक के लिए तैयारियां जोर-शोर से शुरू हो गई हैं। मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान जिले में स्थित सालरिया गो अभयारण्य में 22 नवंबर को हाल ही में गठित गो कैबिनेट की पहली बैठक करेंगे। इसमें सीएम के अलावा कैबिनेट के अन्य मंत्री और विशिष्टजन भी पहुंचेंगे।

दो हेलीपेड तैयार किए जा रहे अभयारण्य के पास

अभयारण्य के समीप दो हेलीपेड तैयार किए जा रहे हैं। कलेक्टर अवधेश शर्मा एवं एसपी राकेश सगर ने बुधवार को अभयारण्य का अवलोकन किया और पशुपालन विभाग एवं सुसनेर अनुविभाग क्षेत्र के अध‍िकारियों द्वारा की जा रही तैयारियों का जायजा लिया। यहां गायों के लिए बने शेड्स को भी अलग-अलग नामकरण कर सुसज्जित किया जा रहा है। परिसर में जहां गो कैबिनेट बैठक होगी, वहां की वीआईपी बैठक व्यवस्था की जा रही है।

17 किमी दूर जंगल में स्थित है अभयारण्य

अभयारण्य सुसनेर से करीब 17 किमी दूर जंगल में स्थित है। आमतौर पर इस परिक्षेत्र में मोबाइल नेटवर्क की समस्या बनी रहती है। इसका निदान भी करने की तैयारी में प्रशासन जुटा है। सीएम चौहान कार्यक्रम के दौरान कई निर्माण कार्य की आधारशिला भी रखेंगे।

एशिया का पहला यह गो अभयारण्य 2017 में लोकार्पित

बता दें कि एशिया का पहला यह गो अभयारण्य 2017 में लोकार्पित किया गया। इसकी नींव 2012 में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत की उपस्थिति में सीएम चौहान ने रखी थी। अभयारण्य में गोपालन के साथ ही अनुसंधान केंद्र संचालित किए जाने का प्रावधान भी कार्ययोजना में शामिल है।

छह हजार गायों को रखने की क्षमता

अभयारण्य में छह हजार गायों को रखने की क्षमता है। अभी करीब चार हजार गायों का पालन-पोषण यहां हो रहा है। सुसनेर विधायक विक्रमसिंह राणा भी सीएम के दौरा कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए सक्रियता से जुटे हुए हैं।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस