शाजापुर। ग्राम सतगांव में कृषि विज्ञान केंद्र शाजापुर के माध्यम से पोषण वाटिका के द्वारा खाद्य सुरक्षा विषय पर प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। प्रशिक्षण के दौरान केंद्र की वैज्ञानिक डॉ. गायत्री वर्मा रावल द्वारा ग्रामीण महिलाओं को घर के पीछे अथवा आस-पास पड़ी खाली जमीन का सदुपयोग कर सकते हैं। यहां पर आप पोषण वाटिका बना सकते है। यहां पर लगी सब्जियां जैविक होकर आपके उपयोग में तो आएगी ही सही वहीं अतिरिक्त उत्पादन होने पर आप सब्जियों का विक्रय कर कुछ आमदनी भी प्राप्त कर सकते है। उन्होंने बताया कि कई बार सब्जियों के दाम ज्यादा होने से उन्हें खरीदना मंहगा हो जाता है। ऐसे में यदि घर आंगन में ही लगी पोषण वाटिका में सब्जियों का उत्पादन होता तो काफी सुविधा व बचत होगी। उन्होंने मौसम के आधार पर साग सब्जी एवं फलदार वृक्ष लगाने के लिए विस्तृत जानकारी दी गई। ग्रामीण महिलाओं को स्वास्थ्य एवं पोषण को ध्यान में रखते हुए वर्ष भर ताजी हरी सब्जियों का दैनिक आहार में महत्व बताते हुए स्वयं पोषण वाटिका के माध्यम से पोषण युक्त जैविक सब्जियों को उगाए जाने के लिए प्रेरित किया।

मिनी किट का किया वितरण

पोषण वाटिका लगाने के लिए डॉ. वर्मा रावल द्वारा महिलाओं को राजमाता विजयराजे सिंधिया कृषि विश्वविद्यालय ग्वालियर द्वारा तैयार सब्जियों के मिनी किट का वितरण भी किया गया। जिससे वे स्वयं सब्जियों का उत्पादन अपने घरेलू स्तर पर कर सके तथा अपने एवं अपने परिवार के स्वास्थ्य एवं पोषण स्तर को बेहतर बना सके तथा सब्जियों पर होने वाले खर्च को कम किया जा कर आर्थिक लाभ भी प्राप्त किया जाने संबंधी मार्गदर्शन दिया गया।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local