Road Safety Campaign Shajapur: शाजापुर/शुजालपुर। यातायात सुरक्षा के लिए नईदुनिया जगरूकता अभियान चला रहा है। जिसके तहत छात्रों और वाहन चालकों को यातायात के नियमों और सुरक्षा के बारे में जानकारी दी जा रही है। जिसके तहत शुजालपुर के स्वामी विवेकानंद हाई स्कूल फ्रीगंज में आयोजन किया गया। जिसमें सड़क सुरक्षा एवं यातायात नियमों की जानकारी विशेषज्ञों द्वारा विद्यार्थियों को दी गई। उन्हें नियमों के पालन के प्रति जागरूक किया गया। विद्यार्थियों ने भी उत्साह और गंभीरता के साथ कार्यक्रम में सहभागिता की और यातायात नियमों का पालन करने और इसके लिए अन्य लोगों को प्रेरित करने की बात कही।

विद्यालय में आयोजित जागरूकता कार्यक्रम की अध्यक्षता विद्यालय प्राचार्य लक्ष्‌मणसिंह सिसोदिया ने की। मंडी थाना में पदस्थ उपनिरीक्षक मूलसिंह धाकड़, यातायात थाना में पदस्थ प्रधान आरक्षक जितेंद्रसिंह राठौड़, आरक्षक सुनील गुर्जर ने विद्यार्थियों को यातायात नियमों के बारे में जानकारी दी। प्राचार्य सिसोदिया ने विद्यार्थियों को

सुरक्षित सफर के लिए यातायात नियनों का पालन करने को कहा। बोला कि आपको स्वयं की सुरक्षा के साथ ही अपने स्वजन और परिचितों को भी यातायात नियमों का पालन करने के लिए प्रेरित करना चाहिए। उन्होंने नईदुनिया के जागरूकता कार्यक्रम की सराहना करते हुए कहा कि समाचार पत्र द्वारा किए जा रहे इस प्रयास से जरूर लोग प्रेरित होंगे और यातायात नियमों के पालन के प्रति जागरूकता बढ़ेगी। आयोजन में नईदुनिया की टीम भी मौजूद रही और अभियान के बारे में जानकारी दी।

सावधानी से कम होंगे हादसे

उपनिरीक्षक धाकड़ ने विद्यार्थियों को मार्गदर्शन देते हुए कहा कि लगातार सड़क दुर्घटना कम होने के बजाए बढ़ रही हैं। अधिकांश हादसों में सुरक्षा उपायों की अनदेखी और नियमों का पालन न होना कारण सामने आया। साथ ही हमारे देश में बच्चों को माता-पिता 18 साल की उम्र से कम आयु में ही वाहन चलाने को दे देते हैं। जबकि उन्हें पहले प्रशिक्षण दिया जाना चाहिए। इसके बाद लाइसेंस बनने के बाद वाहन चलाने की अनुमति और सुविधा दी जाना चाहिए। यह भी ध्यान देने की बात है कि हादसे में घायल कई लोगों समय पर उपचार नही मिल पाता। ऐसे में आमजन को घायलों की मदद में तत्परता दिखानी चाहिए। मरीज को अगर गोल्डन आवर्स में उपचार मिल जाए तो जान बच भी जाती है। सरकार ने इमरजेंसी सर्विसेस को बढ़ावा देने के लिए भी योजना शुरू की है। यदि कोई व्यक्ति किसी मरीज को समय पर अस्पताल पहुंचा देता है। तो उसे इनाम दिया जाएगा।

हेलमेट और सीट बेल्ट जरूर लगाएं

आयोजन में बच्चों को बताया कि दो पहिया वाहन चलाते या उस पर सवारी करते वक्त मानक अनुरुप हेलमेट जरूर पहने। हेलमेट पहने होने पर अगर हादसे के शिकार हो भी गए तो आपके सिर सुरक्षित बच सकता है। सिर की चोट कई बार जानलेना साबित होती है। ऐसे में हेलमेट हमारे सिर को सुरक्षा प्रदान करता है। इस तरह यह हमारे सिर को बोझ नही सुरक्षा कवच के रुप में कार्य करता है। इसी तरह चार पहिया वाहन में यात्रा करने के दौरान सीट बेल्ट का उपयोग करें। यह आपके लिए बंधन न होकर आपकी सुरक्षा बंधन साबित हो सकता है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close