शाजापुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। डिस्ट्रिक कमांडेंट होमगार्ड विक्रमसिंह मालवीय का चयन राष्ट्रपति पुरस्कार के लिए हुआ है। चयनित होने के पीछे 25 वर्ष के कार्यकाल में उनके द्वारा किए गए विशिष्ट कार्य हैं। विभाग में रहते उनके द्वारा किए गए उत्कृष्ट कार्यों के लिए राष्ट्रपति पुरस्कार (विशिष्ठ सेवाओं) के लिए उनका चयन हुआ है। इसके पहले वर्ष 2013 में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के हाथों उन्हें सराहनीय सेवाओं के लिए राष्ट्रपति पदक मिल चुका है।

श्री मालवीय कहते शासकीय सेवा को अपना कर्तव्य और जिम्मेदारी मानते हुए अगर समर्थित भाव से कार्य कि या जाए तो सभी बाधाएं दूर होती हैं और सफलता प्राप्त करना आसान होता है। मेरे काम का यही मूल मंत्र हैं, विभाग के वरिष्ठों का मार्गदर्शन और अधिनस्थों का सहयोग मेरी इस उपलब्धि में काफी महत्वपूर्ण हैं।

होमगार्ड कार्यालय के अनुसार मालवीय को विभाग में अब तक 25 वर्ष हो गए हैं। अब तक के कार्यकाल के दौरान उन्होंने विदिशा की बेतवा नदी में आई बाढ़ में बचाव कार्य, उड़ीसा में सुपर साइक्लोन में फंसे लोगों की मदद के साथ शवों के अंतिम संस्कार में मदद की, गुजरात के भुज में आए भूकंप में भी उन्होंने आगे रहकर एक माह तक शवों को तलाशने के साथ उनका अंतिम संस्कार और राहत एवं बचाव कार्य कराया।

सागर में 2012 में तालाब फू टने के बाद एक सप्ताह तक शिविर लगाकर राहत बचाव कार्य कि या। शाजापुर जिले में 2014 में ग्राम नैनावद में लखुंदर नदी में बाढ़ में फंसी यात्री बस, ट्रक एवं छोटे वाहनों में सवार करीब सवा सौ लोगों की संकट की घड़ी में जान बचाई। इसके अलावा भी विभागीय तौर पर उन्हें कई पुरस्कार मिल चुके हैं।

आईएसओ सर्टिफाइड है कार्यालय

बेहतर गुणवत्ता प्रबंधन और नागरिकों को सुविधाएं उपलब्ध कराने के साथ कार्यालय को साफ स्वच्छ रखने को लेकर होमगार्ड कार्यालय को बीते साल 2018 में आईएसओ सर्टिफिके ट बी मिल चुका है। इसके अलावा भी होमगार्ड कार्यालय को विभागीय तौर पर कई सम्मान और पुरस्कार हासिल हुए हैं। प्लाटून कमांडर कविता सोलंकी बताती हैं कि डिस्ट्रिक कमांडेंट की कार्यप्रणाली को देखकर उन्हें व स्टाफ को भी प्रेरणा मिलती है।

मालवीय के खाते में यह उपलब्धी भी

पिछले 10 वर्ष की एसीआर में सात बार उत्कृष्ठ, दो बार बहुत अच्छा और एक बार अच्छा प्रदर्शन रहा। सेवाओं को वरिष्ठ अधिकारियों ने सराहा। 29 कै श अवार्ड, 100 प्रशंसा और 17 प्रमाण पत्र भी उन्हें प्राप्त हो चुके हैं। 2016 में पांच माह सिंहस्थ उज्जैन मे सेवा देने पर नगद पुरस्कार के साथ सिंहस्थ ज्योति मेडल मुख्यमंत्री के हाथों मिला। इसी साल 14 अगस्त को महामहिम राष्ट्रपति द्वारा विशिष्ट सेवाओं के लिए राष्ट्रपति पदक हेतु चयन हुआ। पदक दिल्ली राष्ट्रपति भवन में 26 जनवरी 2020 को प्रदान कि या जाएगा।

छत्तीसगढ़ में पूर्ण शराबबंदी के लिए कवायद, विधायकों की समिति की पहली बैठक

VIDEO : रायपुर के मनोज ने मिनटों में पलट दी कार, इसे देख चाैंक गए लोग