शाजापुर(नईदुनिया प्रतिनिधि)। बिजली कंपनी द्वारा शहर के सात हजार उपभोक्ताओं को नोटिस थमाए हैं। इन उपभोक्ताओं से बकाया राशि की वसूली करना है। नोटिस देखकर कई उपभोक्ताओं को झटका सा लगा है। दरअसल, यह राशि वर्तमान बिल की नहीं वरन पिछले साल अगस्त 2020 की स्थिति में बकाया बिजली बिल की राशि है। स्थगित राशि जमा करने में उपभोक्ताओं को राहत मिले इसके लिए सरकार द्वारा समाधान योजना लागू कर अधिभार व मूल राशि में नियमाुनसार छूट भी दी जा रही है।

पिछले साल देश भर में कोरोना संकट की दस्तक हो गई थी। कोरोना पर नियत्रंण के लिए लॉकडाउन लगाना पड़ा था। उद्योग, व्यवसाय पर विपरित असर पड़ा था। लोगों की आर्थिक संकट उठाना पड़ा था। ऐसे में सरकार द्वारा लोगों को राहत देने के लिए अगस्त 2020 तक की बिजली बिलों की बकाया राशि स्थगित कर दी थी। कोरोना इस साल भी चरम पर रहा। लेकिन विगत कुछ माह से हालात नियंत्रण में है। अर्थव्यवस्था पटरी पर लौटने लगी है। कोरोना के मरीज भी क्षेत्र में नहीं हैं। लोग सामान्य जीवन जीने लगे हैं। ऐसे में गत वर्ष अगस्त तक की स्थिति में स्थगित की गई राशि को जमा करने के लिए उपभोक्ताओं को नोटिस दिए जा रहे हैं।

नोटिस मिलते ही लग रहा झटका

शाजापुर शहर में बिजली कंपनी के 18 हजार उपभोक्ता हैं। इनमें से सात हजार उपभोक्ताओं की सूची बिजली कंपनी ने तैयार की है। इन सात हजार उपभोक्ताओं पर बिजली कंपनी के पिछले साल के स्थगित किए करीब दो करोड़ रुपये की राशि बकाया है। समाधान योजना लागू कर उपभोक्ताओं को बकाया राशि जमा करने के लिए अपील की जा रही है। इसके लिए उपभोक्ताओं के रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर मैसेज भी भेजे गए हैं तो नोटिस भी भेजे गए हैं। ऐसे में उपभोक्ताओं को बकाया बिजली बिलों को जमा करने के लिए नोटिस मिलते ही झटका लगा है।

योजना में उपभोक्ताओं को मिलेगा लाभ

बिजली कंपनी के जेई बलराज तिवारी बताते हैं कि समाधान योजना में शामिल होकर उपभोक्ता योजना का लाभ उठा सकते हैं। मूल बकाया राशि में तो छूट दी ही जा रही है वहीं अधिभार की शत प्रतिशत राशि माफ की जा रही है। योजना का लाभ 15 दिसंबर तक दिया जाएगा। इसके बाद पूरी राशि जमा करना होगी।

समाधान में यह दो विकल्प

अगस्त 2020 तक की बकाया राशि जमा करने के लिए उपभोक्ताओं को समाधान योजना लागू कर छूट दी गई है। जेई तिवारी ने बताया कि स्थगित की गई मूल राशि का 60 प्रतिशत एकमुश्त भुगतान करने पर 40 प्रतिशत राशि तथा सम्मिलत 100 प्रतिशत अधिभार की राशि माफ की जाएगी। वहीं यदि उपभोक्ता एक मुश्त राशि जमा नहीं करना चाहते हैं तो उसे छह किश्तों में जमा कर सकते है। इस विकल्प में स्थगित की गई मूल राशि की 75 फीसद छह समान मासिक भुगतान करना होगा वहीं स्थगित की गई राशि में सम्मिलत 100 प्रतिशत अधिभार की राशि एवं शेष 25 प्रतिशत मूल बकाया राशि माफ की जाएगी।

15 दिसंबर बाद मूल व अधिभार राशि जुडकर आ जाएगी

बिजली कंपनी द्वारा उपभोक्ताओं को जो नोटिस जारी किए गए हैं उसके अनुसार समाधान योजना का लाभ 15 दिसंबर बाद नहीं मिलेगा। जेई तिवारी ने बताया कि समाधान योजना के अनुसार 15 दिसंबर तक निर्धारित प्रपत्र में संबंधिल लाईन कर्मचारियों, मीटर रीड के माध्यम से अथवा वितरण केंद्र कार्यालय पर आवेदन प्रस्तुत कर औपचारिकताएं पूर्ण कर सकते हैं। इसके अतिरिक्त कंपनी की बेवसाइट पर भी स्वयं विकल्प का चयन करके आनलाइन आवेदन दर्ज करवा सकते हैं। वहीं 15 दिसंबर के बाद विकल्प का चयन करके आवेदन नहीं दिए जाने की स्थिति में स्थगित की गई मूल राशि एवं बकाया राशि एवं अधिभार आगामी बिल में जोड़कर दी जाएगी।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local