पनवाड़ी में विधिक साक्षरता शिविर का आयोजन

शाजापुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण, नई दिल्ली एवं राष्ट्रीय महिला आयोग के समन्वय से शनिवार को ग्राम पंचायत पनवाड़ी के उत्कृष्ट विद्यालय प्रांगण में कानूनी जागरूकता से महिला सशक्तिकरण विषय पर विधिक साक्षरता शिविर का आयोजन किया गया। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण अपर जिला जज एवं सचिव सुरेंद्र सिंह गुर्जर ने अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि कानूनी जागरूकता महिला सशक्तिकरण का अधार एवं उनकी सामाजिक उन्नाति में सहायक है। उन्होंने कहा कि महिला या कोई भी व्यक्ति जब तक पूरे मन से शोषण व अन्याय का प्रतिकार नहीं करता, तब तक बुराई का अंत नहीं हो सकता है, चाहे कितने ही कानून बन जाए। कानून तब ही पीड़ित की मदद कर सकता है जब वह दृढ़ निश्चय कर अपने दमन व शोषण के विरूद्ध आवाज उठाते हैं।

उन्होंने महिलाओं के संवैधानिक अधिकार के साथ ही विवाह एवं तलाक, भरण-पोषण, उत्तराधिकार कानून, दहेज प्रतिषेध, एसिड अटैक, घरेलू हिंसा, लैंगिक अपराधों के साथ ही मध्यप्रदेश अपराध पीड़ित प्रतिकर योजना के प्रावधानों को विस्तार से समझाया तथा महिलाओं एवं बच्चों के लिए नियमित अंतराल पर ऐसे जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किए जाने पर बल दिया।

कार्यक्रम में राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण, नई दिल्ली द्वारा महिला विधियों पर प्रशिक्षित रिर्सोस पर्सन अधिवक्ता तंजीम सिद्दिकी एवं तंजीम लोधी ने उपस्थित महिलाओं को घरेलू हिंसा से महिलाओं का संरक्षण अधिनियम, गिरफ्तारी के समय महिलाओं के अधिकार आदि के बार में सरल भाषा में जानकारी दी। जनपद पंचायत के सीईओ बाबूलाल पंवार ने जनपद पंचायत के अंतर्गत महिलाओं के कल्याणार्थ संचालित शासकीय योजनाओं व उनका लाभ प्राप्त करने की प्रक्रिया से अवगत कराया।

पैनल अधिवक्ता एवं प्रशिक्षित मध्यस्थ युनूस खान पठान ने समाज में महिलाओं एवं बच्चों के साथ रोज घटित हो रहे अपराधों पर रोष व्यक्त करते हुए कहा कि यह समाज की कुंठित मानसिकता, ओछी सोच व लैंगिक भेदभाव का परिणाम है। उन्होंने कहा कि हमें महिला एवं बच्चियों के प्रति सोच बदलने का कार्य स्वयं के घर से शुरू करना होगा, तब ही हम आने वाली पीढ़ी को भयमुक्त समाज दे सकते हैं, जो महिलाओं एवं बालिकाओं की प्रगति एवं सामाजिक उन्नाति में सहायक होगा। परियोजना अधिकारी महिला एवं बाल विकास विभाग नेहा चौहान एवं प्रशासक वन स्टॉप सेंटर नेहा जायसवाल ने उपस्थित महिलाओं को शासन द्वारा संचालित वन स्टॉप, सखी केंद्र, पुलिस परिवार परामर्श केंद्र, महिला पुलिस की भूमिका एवं कार्यप्रणाली के बारे में जानकारी देते हुए महिला हेल्पलाइन एवं चाइल्ड लाइन आदि की जानकारी से अवगत कराया। कार्यक्रम स्थल में महिलाओं को प्रवेश देने से पूर्व कोविड-19 के दिशा-निर्देर्शों का कड़ाई से पालन करते हुए प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पनवाड़ी, पंचायत विभाग से सहयोग से महिलाओं की थर्मल स्कैनिंग तथा सैनेटाईजिंग स्कैनिंग की गई तथा सैनिटाइजेशन उपरांत मास्क के साथ उनको सभागार में प्रवेश दिया गया।

कार्यक्रम में जिला पंचायत विभाग शाजापुर का सक्रिय सहयोग रहा। कार्यक्रम में जिला विधिक सहायता अधिकारी दिग्विजय सिंह, जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी बाबूलाल पंवार, वन स्टॉप सेंटर की प्रशासक नेहा जायसवाल, परियोजना अधिकारी नेहा चौहान, ग्राम पनवाड़ी पंचायत सांपखेड़ा के सरपंच ओमप्रकाश पाटीदार, पंचायत इंस्पेक्टर विक्रम सिंह परिहार, सचिव निलेश मारू, रोजगार सहायक राकेश सूर्यवंशी, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता हेमलता मेवाड़ा एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकरण से मनोहर सिंह मालवीय, योगेंद्र सिंह ठाकुर, शुभम सिंह राजावत एवं पीएलवी सीमा शर्मा, आशुतोष शर्मा, निकिता टेलर, चाइल्ड लाइन से उनके कर्मचारीगण पैनल अधिवक्ता युनूस खान आदि उक्त कार्यक्रम के अवसर पर उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन पैनल अधिवक्ता मो. युनूस खान द्वारा किया गया।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस