आगर मालवा। यज्ञ मनुष्य का श्रेष्ठ कर्म हैं, यज्ञ मनुष्य संकल्प लेकर करता है। बैजनाथ महादेव की पुण्य धरा पर 1 जुन से जो 108 कुण्डीय शिव शक्ति महायज्ञ आरम्भ होने जा रहा हैं, यह यज्ञ जन कल्याण व पर्यावरण शुद्घि के लिए किया जा रहा हैं।

यह बात शनिवार शाम पत्रकारों से बातचीत के दौरान महामंडलेश्वर शिवांगीनन्द गिरी पंच दशनाम जूना अखाड़ा ने बैजनाथ महादेव मंदिर परिसर में मेला ग्राउंड पर बन रही यज्ञ शाला में पत्रकारों से कही। उन्होने कहा कि इस महायज्ञ का आयोजन 2019 में होना था, लेकिन कोरोना महामारी के चलते यह आयोजन स्थगित करना पड़ा। बाबा बैजनाथ ने फिर हमें यह धार्मिक अनुष्ठान करने का अवसर प्रदान किया हैं। यह हमारें और क्षेत्र वासियों के लिए हर्ष की बात हैं। महामंडलेश्वर शिवांगीनन्द गिरी ने विस्तार से यज्ञ का महत्व बताते हुए कहा कि यज्ञ से क्षेत्र के किसानों को भी लाभ होगा। संकल्प लेकर यज्ञ करने वाला व्यक्ति हमेशा उत्तरोतर प्रगति करता हैं।

निरीक्षण के बाद बनाई रूपरेखा

हरिद्वार से शुक्रवार रात आगर पहुंची महामंडलेश्वर ने बैजनाथ महादेव के दर्शन करने के उपरांत यज्ञाचार्य पं. नरेंद्र जोशी के साथ यज्ञशाला का निरीक्षण किया। यज्ञशाला में कार्य कर रहे श्रमिकों से चर्चा करते हुए उन्होने कहा कि आप को यज्ञ शाला निर्माण का अवसर भी ईश्वर की कृपा से मिला हैं। इसे ईश्वरीय कार्य समझ कर करें। निरीक्षण के बाद सामाजिक कार्यकर्ताओं से भी शिवांगीनन्द गिरी ने भेंट की। उन्होने कार्यकर्ताओं को बताया कि यज्ञ में महिलाओं की सहभागिता बहुत आवश्यक हैं, क्योकि महिलाएं ही परिवार का केंद्र बिंदू होती हैं तथा संस्कार व संस्कृति की संवाहक होती हैं। सामाजिक कार्यकर्ताओं के साथ मिलकर उन्होने यज्ञ आरम्भ होने से पुर्व निकाली जाने वाली कलश यात्रा की रूप रेखा भी बनाई। चर्चा के दौरान कुछ कार्यकर्ताओं ने प्रस्ताव रखते हुए कहा कि कलश यात्रा अचलेश्वर महादेव से निकाली जाए तथा नगर की महिला मंडलों व कीर्तन मंडलियों से सम्पर्क किया जाए। ज्ञात हो कि यज्ञ का प्रचार-प्रसार भी आयोजन से जुड़े लोग कर रहे हैं। महामंडलेश्वर शिवांगीनन्द गिरी ने बताया कि क्षेत्र में 108 कुण्डीय महायज्ञ का आयोजन प्रथम बार हो रहा हैं। ऐसे में आगर के अलावा जिले के लोगों को भी इस धार्मिक आयोजन में सहभागिता करनी चाहिए। महामंडलेश्वर ने बताया कि यज्ञशाला के निर्माण में शुद्घ सात्विक वस्तुओं का उपयोग हो रहा हैं। पत्रकार वार्ता के दौरान महंत मुकेश पुरी गोस्वामी व पुर्व पार्षद मनीष सोलंकी भी मौजूद रहे।

चार मंजिली यज्ञशाला बनकर हुई तैयार

यज्ञशाला के निर्माण में लगे लोगों ने अब तक 4 मंजिल का निर्माण कर दिया हैं। आयोजन से जुड़े राकेश कुमार जेफ ने बताया कि 7 मंजिला इस यज्ञशाला का कार्य दो दिन में पुर्ण हो जाएगा तथा यज्ञ वैदियों का निर्माण भी लोगों द्वारा बड़ी श्रृद्घा से किया जा रहा हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close