-सीधे प्रसारण के लिए यू-ट्यूब तथा शहर के विभिन्ना चौराहों पर की एलईडी की व्यवस्था रही

शाजापुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। जिलेभर में असत्य पर सत्य की विजय का प्रतीक दशहरा पर्व हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। बुराई का प्रतीक रावण धू-धूकर जल उठा। स्टेडियम मैदान पर काफी संख्या में लोग रहे हालांकि हर साल की अपेक्षा कम भीड़ रही। जो लोग यहां नहीं आए उन्होंने घरों पर रहकर ही रावण दहन कार्यक्रम को यूटयूब, फेसबुक आदि के माध्यम से लाइव देखा। शाजापुर के विभिन्ना चौराहों पर लगाई गई एलईडी पर भी लोगों ने कार्यक्रम का सीधा प्रसारण देखा। रावण दहन के पश्चात सभी ने एक-दूसरे को पर्व की बधाई दी।

सोमवार शाम साढ़े पांच बजे श्रीकृष्ण व्यायामशाला से पूजन अर्चन कर शोभायात्रा निकली गई। यहां शिक्षा मंत्री इंदरसिंह परमार भी शामिल हुए। श्रीकृष्ण व्यायाम शाला से शोभायात्रा प्रारंभ हुई जो कि नगर के धानमंडी, वजीरपुरा, कंस चौराहा, सोमवारिया बाजार, मगरिया चौराहा, एबीरोड होते हुए स्टेडियम मैदान पर पहुंची। श्रीराम व लक्ष्मण तथा भगवान शंकर, हनुमानजी की झांकी आकर्षण का केंद्र रही। झांकी में शामिल युवा भगवान की वेषभूषा में बग्घी में सवार रहे। स्टेडियम मैदान पर आयोजित कार्यक्रम में विधायक हुकुमसिंह कराडा, भाजपा जिलाध्यक्ष अंबाराम कराड़ा, कलेक्टर दिनेश जैन, पुलिस अधीक्षक पंकज श्रीवास्तव, पूर्व विधायक पुरूषोत्तम चंद्रवंशी एवं अरूण भीमावद, नपा अध्यक्ष शीतल भटट, समाजसेवी वीरेंद्र व्यास एवं रूपकिशोर नवाब, नपा अध्यक्ष प्रतिनिधि क्षितिज भट्ट, सर्व हिंदू उत्सव समिति के अध्यक्ष दिलीप भंवर, दशहरा उत्सव समिति के संयोजक राजेश पारछे, सचिव राजेश तोमर, कोषाध्यक्ष महेश भावसार आदि पदाधिकारी उपस्थित रहे। संचालन समाजसेवी उमेश टेलर ने किया।

जोरदार आतिशबाजी हुई

रावण दहन के पूर्व स्टेडियम मैदान पर जोरदार आतिशबाजी का नजारा देखने को मिला। विशेष बात यह रही कि यहां चायनीज फटाखों का इस्तेमाल नहीं किया गया। स्वदेशी पटाखों को ही जलाया गया। आतिशबाजी से आसमान चकाचौंध सा हो गया। सभी ने आतिशबाजी का लुत्फ लिया। स्टेडियम मैदान पर रावण दहन से पूर्व परंपरानुसार शमी पूजन किया गया। मंत्रोच्चार के साथ विधि-विधान से पूजन-अर्चन के पश्चात 55 फीट ऊंचे रावण का दहन हुआ।

ऑनलाइन देखा प्रसारण

कोरोना के संकट को देखते हुए प्रशासन एवं आयोजन समिति द्वारा सभी नागरिकों से अनुरोध किया था कि दशहरा उत्सव जरूर मनाएं लेकिन सावधानी भी बरतें। प्रशासन ने आम नागरिकों से अनुरोध किया था कि स्टेडियम में मनाए जाने वाले सार्वजनिक दशहरा पर्व पर भीड़ से बचे और अपने परिवार को कोरोना के संक्रमण से दूर रखे और संकल्प लें कि 'जब तक दवाई नहीं-तब तक ढिलाई नही'। कोरोना को देखते हुए कई लोग मैदान पर नहीं पहुंचे तथा उन्होंने ऑनलाइन मोबाइल पर भी रावण दहन के कार्यक्रम का प्रसारण देखा। नगर पालिका शाजापुर द्वारा दशहरा उत्सव समारोह के सीधा प्रसारण करने की व्यवस्था की गई थी। केबल नेटवर्क के स्थानीय चैनल पर सीधा प्रसारण किया गया। नगर के मुख्य चौराहों आजाद चौक, फव्वारा चौराहा, बस स्टैंड, और महूपुरा चौराहा पर एलईडी के माध्यम से समारोह का सीधा प्रसारण भी दिखाया गया। इसके अलावा मीडिया नेटवर्क के यूट्यूब चैनल पर भी सीधा प्रसारण किया गया। मोबाइल एप के माध्यम से भी उक्त कार्यक्रम का सीधा प्रसारण किया गया।

26 एसजेआर 19-बुराई के प्रतीक रावण के पुतले का हुआ दहन।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस