मोहित व्यास, शाजापुर। आराम करने की उम्र में रिटायर्ड शिक्षक दंपती ने समाजसेवा की अनोखी अलख जगा रखी है। वेट लिफ्टिंग, शतरंज, टेबल टेनिस आदि में राष्ट्रीय खिलाड़ी रहे लीलाधर पाल ने बच्चों को खेल के गुर सिखाने के लिए जीवनभर की पूंजी के रूप में सेवानिवृत्ति पर मिले लाखों रुपए खर्च कर दिए। इसके बाद भी बच्चों को खेल सुविधा उपलब्ध कराने की जिद पूरी नहीं हुई। पति का यह जज्बा देखकर सेवानिवृत्त शिक्षिका पत्नी कलावती पाल भी आगे आईं और कोच पति के खिलाड़ियों की सुविधा बढ़ाने के लिए लाखों रुपए पेंशन की राशि से दिए। दोनों अब हर माह आने वाली पेंशन की राशि से जिम व टेटे हॉल का निर्माण करवा रहे हैं।

उत्कृष्ट स्कूल शाजापुर के एक हॉल में सेवानिवृत्त शिक्षक पाल बच्चों को वेट लिफ्टिंग के गुर सिखाते हैं। जर्जर कक्ष में बारिश के दिनों में पानी टपकने से खिलाड़ी परेशान होते थे। इसके लिए पाल दंपती ने कक्षा की नई छत बनवाने का निर्णय लिया। छत डलने के बाद मन में आया कि बच्चों को टेबल टेनिस के लिए इसके ऊपर एक हॉल और बनाया जाए। इस पर दोनों ने डेढ़-डेढ़ लाख रुपए मिलाकर 600 स्क्वेयर फीट का हॉल बनवाना शुरू करा दिया। फिलहाल निर्माण अंतिम दौर में है। वेट लिफ्टिंग में राष्ट्रीय खिलाड़ी रहे लीलाधर पाल की उम्र करीब 70 साल है।

मौत के मुंह से वापस आए

पड़ोसी जिला आगर (उस समय शाजापुर जिले में था) में वर्ष 2007 में दो खिलाड़ियों को शतरंज खिलाने ले गए पाल हादसे का शिकार हो गए थे। उनके साथ एक खिलाड़ी भी गंभीर घायल हुआ। लंबे उपचार के बाद दोनों स्वस्थ हुए। हालांकि पाल काफी कमजोर हो गए और एक तरह से पलंग पकड़ लिया। इस पर खिलाड़ियों ने हौसला बढ़ाया और वापस फील्ड में ले आए। इससे पाल की हालत में तेजी से सुधार आया। वे एक बार फिर खिलाड़ी तैयार करने में लग गए। उनके द्वारा तैयार खुशी यादव राष्ट्रीय प्रतियोगिता में तीन और विजय प्रजापत एक मेडल जीत चुका है। उनके खिलाड़ी अब तक 21 बार नेशनल स्तर पर प्रदर्शन कर चुके हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना