वर्क ओके : इलेक्ट्रिक पॉवर से ट्रेन चलाने को लेकर मिली हरी झंडी

शाजापुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। रेलवे सुविधाओं के मामले में शाजापुर को इलेक्ट्रिफिकेशन लाइन के रूप में बड़ी सौगात मिली है। अब ट्रैक से इलेक्ट्रिक पॉवर से ही यात्री ट्रेनें भी गुजरेंगी। इसकी शुरूआत मंगलवार से हो गई। शाजापुर रेलवे स्टेशन से पहली ट्रेन साबरमती गुजरी, जिसमें इलेक्ट्रिक पॉवर इंजन लगा हुआ था।

शाजापुर रेलवे ट्रैक पर सुविधाओं के लिहाज से कमी महसूस की जाती रही है। सबसे बड़ी कमी लाइन का इलेक्ट्रिफिकेशन ना होना रहा। अब तक इस रूट पर चलने वाली ट्रेनों में आने-जाने से पहले इलेक्ट्रिक इंजन को हटाकर डीजल इंजन लगाना पड़ता था। इसके कारण एक तो समय खर्च होता था, वहीं कर्मचारियों को मशक्कत करना पड़ती थी। इसके अलावा डीजल का खर्च भी ज्यादा होता था। इसे देखते हुए विजयपुर से लेकर मक्सी तक रेलवे लाइन के इलेक्ट्रिफिकेशन प्रोजेक्ट का काम करीब दो साल पहले शुरू करवाया गया। काम इस साल मई में पूर्ण हो गया। इसके बाद तीन जून से मालगाड़ी ट्रैक पर इलेक्ट्रिक पॉवर से चलने लगी, लेकि न यात्री ट्रेनों को इलेक्ट्रिक पॉवर से चलाने के लिए रेल संरक्षा आयुक्त की अनुमति चाहिए होती है, जो कि अब मिल गई है। इसके बाद मंगलवार सुबह साबरमती ट्रेन इलेक्ट्रिक पॉवर से होकर शाजापुर स्टेशन से गुजरी। उल्लेखनीय है कि कोरोना संक्रमण के चलते फिलहाल एक ही यात्री ट्रेन सारबमती गुजर रही है। इसमें भी रिजर्वेशन करवाकर ही बैठा जा सकता है।

कार्य की गुणवत्ता से संतुष्ट होकर मिली स्वीकृति

पीआरओ भोपाल रेल मंडल आइए सिद्दिकी ने बताया कि पश्चिम मध्य रेल भोपाल मंडल के गुना-मक्सी लाइन पर पचोर रोड-मक्सी स्टेशन के मध्य 88 किमी रेल मार्ग के इलेक्ट्रिफिकेशन कार्य का रेल संरक्षा आयुक्त मध्य वृत्त मुंबई एके जैन ने पश्चिम मध्य रेल मुख्यालय के प्रमुख मुख्य विद्युत इंजीनियर डॉ. राकेश कुमार गुप्ता, मंडल रेल प्रबंधक भोपाल उदय बोरवणकर, वरिष्ठ मंडल विद्युत इंजीनियर (टीआरडी) संजय तिवारी, मंडल के अफसरों सहित राइट्स लिमि. के अधिकारियों के साथ निरीक्षण किया था। इस दौरान रेल संरक्षा आयुक्त ने इस रेल खंड पर संरक्षा एवं सुरक्षा से जुड़े संसाधनों, ओएचई लाइन, संबद्ध उपकरण तथा सिग्नलिंग आदि का निरीक्षण किया। मक्सी से पचोर रोड स्टेशन के मध्य विद्युत इंजन से 110 किमी प्रति घंटे की गति से सफलता पूर्व स्पीड ट्रायल भी किया गया। इलेक्ट्रिफिकेशन कार्य की गुणवत्ता से संतुष्ट होकर उन्होंने पचोर रोड-मक्सी रेल खंड पर विद्युत इंजन द्वारा रेल गाड़ियों के संचालन की स्वीकृति दी है। अब गुना से मक्सी तक रेल मार्ग पर विद्युत इंजन द्वारा रेल गाड़ियों का संचालन प्रारंभ हो जाएगा। इससे पश्चिम रेलवे मक्सी और गुना होते हुए बीना के रास्ते जाने वाली गाड़ियां विद्युत ऊर्जा से चल सकें गी। उल्लेखनीय है कि इलेक्ट्रिफिकेशन का काम राइट्स लिमि. कंपनी द्वारा किया गया है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना