आगर-मालवा। प्रतिवर्षानुसार श्राद्घ पक्ष की सर्वपितृ अमावस्या पर आगर के ग्राम आमला स्थित प्रज्ञाकुंज में सामूहिक तर्पण व पिंडदान पितरो के लिए गायत्री परिजन ने गुरूवार को किया। इस दौरान सात पीढियो के पितृ, सामाजिक कार्यकर्ता एवं युद्घ में शहीद हुए सैनिको के लिए यम, ऋषि तर्पण किया गया। शांतिकुंज हरिद्घार स्थित देवसंस्कृति विश्वविघालय में धर्म आध्यात्म विभाग के प्रो. ओमप्रकाश तेजरा ने सामूहिक तर्पण एवं पिंडदान कर्मकांड के दौरान उपस्थित श्रद्घालुओं के बीच कहाकि पितरो के प्रति श्रद्घा का भाव जागृत होना, उनके अधूरे स्वप्न शेष लोकोपयोगी कार्य को विनम्र और निःस्वार्थ भाव से पूर्ण करना ही सच्चा श्राद्घ है। पितृ सदैव अपने परिजनो को आशीष देने परिवार की सुख समृद्घि के लिए पितृ पक्ष में अपने कुल में अपेक्षा से उपस्थित होते है। अतः श्रद्घा भाव से उनके मोक्ष की कामना सहित उनके नियमित तर्पण और पिंडदान की क्रिया करने का विधान शास्त्रो में बताया गया है। तर्पण एवं पिंडदान कर्मकांड की प्रक्रिया अनिता तेजरा ने संपन्न करवायी।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020