-70 लाख रुपये का हुआ किसानों को भुगतान

शाजापुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। पिछले साल प्याज भंडार गृह बना चुके किसानों का अनुदान राशि को लेकर चल रहा इंतजार खत्म हो गया। किसानों के खाते में 70 लाख रुपये की राशि भेजी जा चुकी है। जबकि शेष रहे कुछ और किसानों को भी जल्द ही राशि दिए जाने के लिए प्रक्रिया की जा रही है।

शाजापुर जिले में प्याज का बंपर उत्पादन होता है। शाजापुर के प्याज ने प्रदेश ही नहीं वरन पूरे देश में जिले को अलग पहचान दिलाई है। जिले में अमूमन प्याज का बंपर उत्पादन होने के दौरान किसानों को सीजन के समय उचित भाव नहीं मिल पाते हैं। ऐसे में किसानों के सामने समस्या आती है। लेकिन इस तरह की समस्या से किसानों को मुक्ति दिलाने के लिए प्याज भंडार गृह बनाए जा रहे है। प्याज का बंपर उत्पादन होने पर भी किसानों के सामने उचित भाव को लेकर सीजन के समय समस्या खड़ी हो जाती है। उस दौरान डिमांड कम होने से कम भाव पर प्याज बेचने को मजबूर किसानों की माली हालत खराब होती है। किसानों के पास प्याज भंडार गृह को लेकर पर्याप्त व्यवस्था नहीं होना इसका कारण रहता है। प्याज को ज्यादा समय तक सुरक्षित नहीं रखने के चलते किसान कम दाम पर भी प्याज बेच देते हैं। ऐसे में पिछले कुछ सालों से हर साल प्याज भंडार गृह बनवाए जा रहे हैं। सत्र 2019-20 में किसानों द्वारा प्याज भंडार गृह बनाए गए। किसानों को नियमानुार पचास फीसद तक अनुदान मिलना था। लेकिन लंबा समय बीतने पर भी राशि नहीं आ रही थी। ऐसे में गत दिनों ही 40 किसानों को 70 लाख की राशि जारी की गई है। राशि मिलने से किसान खुश हैं, क्योंकि वह निर्माण के उपरांत अनुदान के लिए बीते कई माह से राशि का रास्ता देख रहे थे। हालांकि जो राशि जिले को मिली वह 96 लाख के लगभग थी। लेकिन 70 लाख की राशि किसानों को भुगतान करने के उपरांत शेष 26 लाख की राशि बीसीओ में लिमिट नहीं होने से भुगतान नहीं हो पाई। लेकिन यह प्रक्रिया भी चल रही है। उल्लेखनीय है कि भंडार गृह बनने का सीधा फायदा किसानों को है। एक तो आधी निर्माण राशि अनुदान में मिल रही है। वे इनके मालिक भी होंगे। किसान इससे लंबे समय तक प्याज सुरक्षित रख सकेंगे। उन्हें जब अच्छा भाव मिलेगा तब वे उपज को बेच सकेंगे। भंडार गृह पर 50 फीसद तक का अनुदान दिया जा रहा है। विशेष तकनीक से बने इन भंडार गृहों में प्याज को लंबे समय तक सुरक्षित रखा जा सकता है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags