शाजापुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। क्षेत्र के किसानों के लिए राहत की बात है कि यूरिया की एक रैक रेलवे स्टेशन पर आई है। इस रैक से आई खाद को ट्रकों में लोड कर जिले के विभिन्ना सेंटरों पर भेजा भी जा रहा है। सेंटरों से किसानों को नियमानुसार खाद आज से दिया जाएगा।

जिले में रबी फसलों की बुआई का कार्य तेजी से चल रहा है। इस दौरान यूरिया की डिमांड भी लगातार बनी हुई है। सोसायटियों के साथ ही एमपी एग्रो एवं निजी दुकानों पर भी खाद का वितरण किया जा रहा है। वर्तमान में लगातार मांग को देखते हुए खाद की आपूर्ति के लिए कृषि विभाग एवं जिला विपणन संघ द्वारा लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। रविवार को यूरिया उर्वरक की रैक शाजापुर रैक पाइंट पर लगी है। करीब तीन हजार मीट्रिक टन की इस रैक से 1900 मीट्रिक टन यूरिया शाजापुर जिले को मिला जबकि शेष खाद आगर जिले के लिए आंवटित किया गया। रैक से मिली खाद को ट्रकों में लोड कर वितरण केंद्रों के लिए भेजा जाने लगा। कृषि उपसंचालक आरपीएस नायक एवं जिला विपणन अधिकार प्रवीण रघुवंशी ने बताया कि रबी सीजन में किसानों को खाद का केंद्रों से नियमानुसार वितरण हो रहा है। किसानों को खाद के लिए किसी भी तरह की समस्या नहीं आने दी जाएगी। शासन द्वारा लगातार खाद की आपूर्ति की जा रही है। शासन स्तर पर लगातार खाद की स्थिति को लेकर मॉनीटरिंग भी की जा रही है।

गेहूं का सबसे ज्यादा रकबा

पानी की पर्याप्त उपलब्धता के चलते इस बार रबी फसलों का अच्छा उत्पादन होने की उम्मीद है। पानी की उपलब्धता को देखते हुए जिले में सबसे ज्यादा रकबा गेहूं का ही बढ़ा है। गेहूं में ही सबसे ज्यादा यूरिया लगता है। इसलिए वर्तमान में यूरिया की मांग बढ़ी हुई है। उल्लेखनीय है कि जिले में इस बार दो लाख 54 हजार हेक्टेयर क्षेत्र में रबी फसलों की बुआई होना है जिसमें एक लाख 95 हजार हेक्टेयर में गेहूं की बुआई तो 38 हजार हेक्टेयर में चना तथा शेष रकबे में अन्य फसल शामिल है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस