लीड खबर -----

- सड़क चलते लोगों पर हो रही चालानी कार्रवाई, बड़ी लापरवाही पर जिम्मेदार मौन-

- स्टेडियम में काफी देर तक बनी रही भीड़भाड़

- पास ही था लालघाटी थाना

शाजापुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। लीड बीकेएसएन कॉलेज के विद्यार्थियों को एनसीसी में भर्ती के लिए शनिवार को एबी रोड स्थित स्टेडियम में फिजिकल टेस्ट आयोजित किया गया। इसके लिए बड़ी संख्या में छात्र-छात्रा स्टेडियम में एकत्रित हुए। यहां कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए जारी गाइड लाइन का जमकर उल्लंघन किया गया। बड़ी संख्या में मौजूद विद्यार्थियों द्वारा न तो दो गज दूरी का पालन किया गया और न ही मास्क का उपयोग किया गया। यह स्थिति कोरोना संक्रमण फैलने का कारण बन सकती है।

जिले में हर दिन कोरोना मरीज सामने आ रहे हैं। संक्रमण की रोकथाम के लिए जिला प्रशासन जागरूकता अभियान और चालानी कार्रवाई में तेजी लाने की बात कह रहे हैं किंतु दूसरी ओर सिस्टम में शामिल लोग ही संक्रमण को आमंत्रण दे रहे हैं। शनिवार को स्टेडियम में सामने आई स्थिति भी कोरोना को बुलाने के जैसी ही थी। खास बात यह है कि शनिवार को ही स्टेडियम मैदान में स्थित लालघाटी थाने में ही एसआई और सिपाही कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। ये टेस्ट कराने के पहले तक थाने पर काम कर रहे थे। ऐसे में थाना स्टाफ को अतिरिक्त सावधानी बरतने की जरूरत है और जितना संभव हो आमजन को भी थाना परिसर से दूर रखने पर ध्यान देना चाहिए किंतु यहां शनिवार को ही बड़ी संख्या में एनसीसी में भर्ती के लिए विद्यार्थी एकत्रित हुए, जो गंभीर लापरवाही है।

परिसर में ही मौजूद पुलिस ने भी नहीं दिया ध्यान

एबी रोड स्थित स्टेडियम परिसर में ही लालघाटी थाना संचालित होता है। मैदान में लगी भीड़ और कोरोना गाइड लाइन के उल्लंघन को लेकर थाना प्रभारी अनिल कुमार पुरोहित और स्टाफ ने भी ध्यान नहीं दिया जबकि शनिवार को ही थाने में एक एसआई और सिपाही कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। ऐसे में मैदान में बड़ी संख्या में लापरवाही पूर्वक मौजूद विद्यार्थियों में भी कोरोना फैलने का डर बना हुआ था। दूसरी ओर सड़क चलते लोगों द्वारा मास्क न लगाने पर चालानी कार्रवाई की जा रही है किंतु बड़े पैमाने पर हो रही लापरवाही को लेकर जिम्मेदार अनदेखी कर रहे हैं।

प्रथम वर्ष के लिए भर्ती

प्रोफेसर डॉ. वीपी मीणा ने बताया कि लीड कॉलेज में एनसीसी प्रथम वर्ष के लिए कैडेट्स की भर्ती हो रही है। इसमें 26 छात्र और 13 छात्राओं की भर्ती होनी है। इसके लिए फिजिकल और फिटनेस टेस्ट लिया जा रहा है जो विद्यार्थी इसमें बेहतर प्रदर्शन करेंगे। उनकी सूची बटालियन स्तर पर जाएगी। वहां से विद्यार्थियों का चयन किया जाएगा।

बॉक्स लगाएं----

आमजन के साथ खास को भी सबक सिखाना जरूरी

प्रशासन द्वारा कोरोना संक्रमण रोकने के लिए बिना मास्क लगाए लोगों पर चालानी कार्रवाई की जा रही है किंतु इसमें पक्षपात भी सामने आ रहा है। सड़क चलते आमजन पर तो पुलिस, राजस्व और नपा की टीम द्वारा कार्रवाई की जा रही है किंतु खास लोगों को इससे छूट है। स्थिति यह है कि रिवीजन टेस्ट के दौरान स्कूलों में विद्यार्थियों की भीड़ हो रही है। यहां गाइड लाइन का भी जमकर मखौल उड़ रहा है किंतु लापरवाही बरतने वालों पर किसी तरह की कार्रवाई नहीं की जा रही है।

फोटो 21 एसजेआर 16

कैप्शन-कतार में बिना मास्क लगाए खड़ी छात्राएं।

फोटो 21 एसजेआर 17

कैप्शन-अपनी बारी का इंतजार करते इन छात्रों ने भी मास्क नहीं लगाया और दो गज की दूरी के नियम का भी किया उल्लंघन।

-----लीड के अंदर ही अच्छे से लगाएं----

उत्कृष्ट स्कूल में दिखा सुधार, नियमों का रखा ध्यान

खबर का असर का लोगों लगाएं---

- नईदुनिया द्वारा समाचार प्रकाशन के बाद प्राचार्य ने संभाली कमान

शाजापुर। उत्कृष्ट स्कूल शाजापुर में शुक्रवार को विद्यार्थियों द्वारा कोरोना गाइड लाइन का उल्लंघन किए जाने और इससे संक्रमण फैलने की आंशका को लेकर नईदुनिया द्वारा शनिवार के अंक में प्रमुखता से समाचार प्रकाशित किया था। इसके बाद स्कूल प्राचार्य केके अवस्थी ने शनिवार को खुद मोर्चा संभाला और लापरवाह विद्यार्थियों को सख्ती से समझाइश दी। मुख्य पर ही मास्क लगाने के बाद ही विद्यार्थियों को प्रवेश दिया गया। शिक्षकों द्वारा विद्यार्थियों के हाथों को सैनिटाइजर से साफ कराया गया।

प्राचार्य अवस्थी ने बताया कि टेस्ट के लिए बड़ी संख्या में विद्यार्थी स्कूल आ रहे हैं। ऐसे में शारीरिक दूरी का पालन कराना और हर विद्यार्थी मास्क लगाएं रहें यह सुनिश्चित करने के लिए कवायद की जा रही है। उन्होंने बताया कि हमारे द्वारा प्रयास किया जा रहा है कि विद्यार्थियों द्वारा गाइड लाइन का पालन किया जाए। साथ ही स्टाफ को भी समझाइश दी गई है कि वे इस ओर गंभीरता से ध्यान दें। उन्होंने बताया कि विद्यार्थियों की संख्या अधिक है, इस कारण कई दिक्कतें आ रही हैं। दरअसल स्कूल में एक दिन पहले शुक्रवार को विद्यार्थी भीड़ के रूप में देखे गए थे। जो कोरोना संक्रमण की दृष्टि से चिंताजनक है।

फोटो- 21 एसजेआर 19 कैप्शन- दो गज की दूरी का ध्यान रखते दिखीं छात्राएं।

फोटो- 21 एसजेआर 20 कैप्शन-विद्यार्थियों के हाथों को सैनिटाइज कराते शिक्षक।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस