शाजापुर। शुजालपुर थाना क्षेत्र के गांव नरोला से तीन दिन से गायब 17 वर्षीय किशोरी का शव गांव के ही तालाब में मिला है। गुरुवार सुबह शव का पोस्टमार्टम कर शव वाहन से गांव के लिए रवाना किया गया। इस दौरान दो बार हिंदू संगठन के लोगों ने शव वाहन का रास्ता रोका। वाहन गांव पहुंचने के काफी समय बाद तक हिंदू संगठन के लोगों का विरोध प्रदर्शन जारी है। शव वाहन गांव से कुछ दूर पहले खड़ा हुआ है। संगठन के लोगों द्वारा आरोपितों को फांसी देने और गांव में बने एक चबूतरे को तोड़ने की मांग की जा रही है। गांव में बड़ी संख्या में लोग इकट्ठा हैं। सुरक्षा के लिए बड़ी संख्या में पुलिस बल भी गांव में मौजूद है।

जानकारी अनुसार गुरुवार को पोस्टमार्टम के बाद शव वाहन जैसे ही गांव के लिए रवाना हुआ।अस्पताल के बाहर शुजालपुर में हिंदू संगठन के लोग सड़क पर बैठ गए और शव वाहन का रास्ता रोका। पुलिस अधिकारियों की समझाइश के बाद यह लोग सड़क से उठे और शव वाहन को आगे जाने दिया। करीब 10 किलोमीटर का सफर तय करके शव वाहन ग्राम नरोला पहुंचा। यहां पर भी हिंदू संगठन के लोगों ने विरोध प्रदर्शन किया और सड़क पर बैठ गए। जिससे काफी देर से शव वाहन गांव से कुछ दूर पहले ही खड़ा है। नाराज लोगों द्वारा गांव में बने एक चबूतरे को तोड़ने की मांग की जा रही है। जिस पर चबूतरा आधा तोड़ दिया गया है। नाराज लोग चबूतरे को पूरा तोड़ने की मांग कर रहे हैं। इसी जद्दोजहद में शव वाहन काफी देर से गांव के बाहर ही खड़ा हुआ है। बहरहाल मामला तनावपूर्ण बना हुआ है। सुरक्षा के लिहाज से बड़ी संख्या में पुलिस बल गांव में मौजूद है और वरिष्ठ अधिकारी भी मामले पर नजर रख रहे हैं।

आसपास के गांव के लोग भी पहुंचे नरोला

गुरुवार सुबह से ही ग्राम नरोला में स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है। किशोरी की मौत के मामले को लेकर क्षेत्र के लोगों में खासा आक्रोश है। पोस्टमार्टम के बाद जैसे ही शव गांव के लिए रवाना होने की जानकारी आसपास के गांव के लोगों को लगी तो लोग नरोला गांव के लिए रवाना हो गए। जानकारी के अनुसार गुरुवार दोपहर 1:15 बजे तक गांव में गहमागहमी का माहौल है और बड़ी संख्या में लोग गांव में जुटे हैं। यहां लोग सड़क पर बैठकर विरोध प्रदर्शन और नारेबाजी कर रहे हैं।

यह है मामला

एसडीओपी वीएस द्विवेदी ने बताया कि किशोरी 21-22 अगस्त की रात से गायब थी। स्वजन ने मामले में शिकायत की थी। उन्होंने गांव के ही शाकिब खां, सलामुद्दीन खां और इकबाल बेग पर अपहरण की आशंका जाहिर की थी। इसके बाद पुलिस ने तीनों को मामले में संदेही मानते हुए अपहरण का प्रकरण दर्ज किया था। तीनों को हिरासत में लेकर पूछताछ भी की गई, किंतु कोई सुराग नही लगा था। बुधवार देर शाम शव गांव के ही तालाब में मिला है।

Posted By: Prashant Pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close