वीरपुर। नईदुनिया न्यूज

ग्राम पंचायत वीरपुर में सचिव को निलंबित किया गया है, इसके बाद भी सचिव ग्राम पंचायत में निर्माण कार्य करवा रहा है, जिसकी शिकायत स्थानीय लोगों द्वारा जनपद सीइओ से भी की गई लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की गई है।

ज्ञात हो कि, ग्राम पंचायत वीरपुर के सचिव मुरारी गुर्जर को वित्तिय अनियमिताओं को चलते 18 जून को निलंबित कर दिया गया था और निलंबन की अवधि में इनका मुख्यालय जनपद पंचायत कराहल किया गया था, लेकिन ये एक दिन भी जनपद कार्यलय नहीं गए और पूर्व की भांति ग्राम पंचायत में बैठने से लेकर निर्माण कार्य तक भी करा हैं। ज्ञात हो कि, सचिव के खिलाफ पूर्व में शासकीय राशि का गबन करने की शिकायते होती रही है। ग्रामीणों ने सचिव को पंचायत से हटान की मांग अधिकारियों से की है।

बॉक्सः

नाले का कराया जा रहा है घटनिया निर्माण काम

वीरपुर ग्राम पंचायत में निलंबित सचिव द्वारास मरैया के मील से पापडा नाले तक नाला निर्माण कराया जा रहा है। सचिव ने निर्माण के नाम पर 17 लाख की राशि आहरण कर ली, लेकिन काम कुछ नहीं कराया है और जो काम कराया जा रहा है वह भी बहुत घटिया। जबकि राशि पहले ही निकाल रही बंदरबांट कर लिया। स्थानीय लोगों का आरोप है कि, नाले की खुदाई में मजदूरों की बजाए जेसीबी से कराई गई है।

बॉक्सः

यह था पूरा मामला

मुख्य राज्य निर्वाचन आयोग से 15 जून 2022 प्राप्त आदेश जिसमें सचिव मुरारी गुर्जर द्वारा आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन करते हुऐ बिना काम कराए लगभग 17 लाख रुपये हैं निकाल लिए थे। जिसमें कार्यालयीन कारण बताओं नोटिस जारी कर 15 जून से 17 तक जवाब मांगा गया लेकिन इनके द्वारा जवाब नहीं दिया गया। जिसके चलते 17 जून को ग्राम पंचायत वीरपुर के कार्यों की जाच के लिए सहायक यंत्री जनपद पंचायत विजयपुर एवं सहायक लेखा अधिकारी मनरेगा जनपद पंचायत विजयपुर को निर्देशित किया गया। 18 जून के प्रतिवेदन अनुसार नाली निर्माण कार्य मरैया के मील से पापड़े नाले की ओर वीरपुर काम पर 7 लाख 19 हजार 340 एवं मजदूरी राशि 1224 रुपये के विरूद्ध मौके पर मात्र 200 मीटर मिट्टी खुदवाई एवं 18 मीटर पत्थर की चुनाई का का काम पाया गया। इसके अलावा रपटा, पुलिया निर्माण धौरेट बाबा के रास्ते पर उक्त काम में मात्र 75 प्रतिशत काम कराया गया। रपटा निर्माण पवन चौबे के खेत के पास वीरपुर उक्त काम बिना तकनीकी एवं प्रशासकीय स्वीकृति जारी किए गए बगैर 407600 लाख रुपये की राशि आहरण की गई। जांच में अनियमिताएं पाए जाने पर सचिव मुरारी गुर्जर को निलंबित किया गया था।

वर्जनः

- हां में गांव में जो राशि निकाली थी, उसका काम अधूरा रह रहा है उसे पूरा करवा रहा हूं। नाली निर्माण काम चल रहा है।

मुरारी सिंह गुर्जर

सचिव, ग्राम पंचायत वीरपुर

- अगर निलंबन के बाद सचिव द्वारा पंचायत में निर्माण काम कराया जा रहा है तो में इसकी जानकारी लेता हूं। अगर ऐसा पाया जाता है तो कार्रवाई की जाएगी।

राजेश शुक्ल

जिपं सीइओ, श्योपुर।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close