श्योपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

प्रदेश व्यापी आंदोलन के तहत विभिन्ना मांगों को लेकर सोमवार ज्ञापन देने पहुंची आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की झड़प सीडीपीओ जितेंद्र तिवारी से उस समय हो गई, जब कार्यकर्ताओं को सीडीपीओ ने फटकार लगा दी।

राज्य सरकार द्वारा काटे गए मानदेय को चालू कराने आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, सहायिका की सेवानिवृत्ति पर राशि बढ़ाने पोषण ट्रैकर एप को हिंदी वर्जन करने सहित विभिन्ना मांगों को लेकर ज्ञापन देने पहुंची आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने सीडीपीओ से 1 दिन की अनुपस्थिति पर 1 दिन के बजाए 7 दिन का मानदेय काटे जाने का विरोध किया तो सीडीपीओ ने बोल दिया कि 7 दिन क्या एक माह का भी वेतन काट सकता हूं। मुझे मानिटरिंग के लिए ना तो सुपरवाइजर की और ना ही आपके मोबाइल की जरूरत है। हर गांव में मेरे 10 लोग मौजूद है, जो आप की पल-पल सूचना मुझे देते हैं। अगर नौकरी करनी है तो ठीक से करो। इसके अलावा सरकार द्वारा दिए गए मोबाइलों का सीडीपीओ द्वारा प्रमाणीकरण मांगे जाने पर भी कार्यकर्ता और सीडीपीओ उलझ गए। दरअसल सीडीपीओ कार्यकर्ताओं से मोबाइल देते समय प्रमाणिक ले रहे हैं जिसमें मोबाइल के चोरी हो जाने, गुम जाने, सेवानिवृत्त होने या आंगनबाड़ी कार्यकर्ता की मृत्यु हो जाने पर भी मोबाइल को जमा कराने की बात का उल्लेख है। इस दौरान सीडीपीओ ने कार्यकर्ताओं से कहा कि आपका पति शराबी है चोर है और उसने मोबाइल चोर कर बेच दिया तो क्या करेंगे। इस पर भी कार्यकर्ता नारा हो गई। ऐसी कई बातें थी जिनमें सीडीपीओ और कार्यकर्ता एक दूसरे के खिलाफ मुखर दिखाई दिए।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close