श्योपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। शिक्षा विभाग में नियम कायदें भले ही सरकार बनाती हो, लेकिन इन नियम कायदों को ताक पर रखकर अपने नियम कायदें चलाने का काम स्थानीय अधिकारी हमेशा करते रहे हैं। खासकर जब अटैचमेंट की बात हो तब शासन के दिशा-निर्देशों को हमेशा ही नजरअंदाज करते हुए अपने चहेते शिक्षकों को कार्यालयीन काम के लिए अटैचमेंट करना आम बात है। हाल ही में अटैचमेंट का नया कारनामा बिल्कुल चौंका देने वाला है। डीईओ कार्यालय में परिवीक्षा अवधि में चल रहे शिक्षक का अटैचमेंट कर दिया है, जिससे इस शिक्षक की मूल पदस्थापना स्थल पर बच्चों को पढ़ाने वाले शिक्षकों की कमी पड़ गई है।

नए शिक्षा सत्र में पठन-पाठन के लिए शिक्षा विभाग ने वर्ग-1 के करीब एक सैंकड़ा शिक्षक भर्ती किए हैं। इन शिक्षकों को काउंसलिंग के बाद विषय आधारित जरूरत वाले स्कूलों में पदस्थ किया गया हैं। इन्हीं में से हायर सेकंडरी स्कूल ओछापुरा में पदस्थ शिक्षक पवन वर्मा को अंग्रेजी विषय पढ़ाने के लिए पदस्थी दी गई है। शिक्षा विभाग के निर्देशानुसार संविदा अवधि में काम करने वाले शिक्षक को शाला विशेष के लिए पदस्थ किया जाता है। किसी भी परिस्थिति में उसे दूसरे स्कूल या किसी कार्यालय में अटैच नहीं किया जा सकता। 3 साल तक एक ही स्कूल में ठीक तरह से पढ़ाने पर ही उसकी परिवीक्षा अवधि पूरी मानकर नियमित करने की कार्रवाई की जाती हैं। इस नियम के विरूद्ध डीईओ पवन वर्मा को अपने कार्यालय में ही अटैच कर लिया, जो उसकी परिवीक्षा अवधि नियमों के विपरीत तो है साथ ही जिस स्कूल में उसकी पदस्थी अंग्रेजी विषय पढ़ाने के लिए हुई थी, उससे वहां के बच्चे प्रभावित हो रहे हैं।

वर्जन

- शिक्षक पवन वर्मा हमारे स्कूल में पदस्थ हैं, लेकिन वह अभी डीईओ कार्यालय में अटैच किए गए हैं। इसलिए वह स्कूल में पढ़ाने नहीं आ रहे हैं। उनके नहीं होने से शिक्षक की कमी तो हो रही हैं, लेकिन इसकी पूर्ति हम पुराने शिक्षकों से करा रहे हैं, वहीं अंग्रेजी विषय भी पढ़ाने का काम कर रहे हैं।

सुरेन्द्र सिंह धाकड़

प्रिंसीपल, हायर सेकंडरी स्कूल ओछापुरा

- शिक्षक को कार्यालयीन काम के लिए नहीं क्रीड़ा व्यवस्था की जिम्मेदारी दी है। जिले में खेल शिक्षक का पद खाली था, जिससे क्रीड़ा गतिविधियां शिथिल पड़ी थी। उन्हें सुचारू करने के उद्देश्य से को बुलाया है। वह खेल के साथ-साथ ओछापुरा के स्कूल में पढ़ाई भी करा रहे हैं।

राकेश शर्मा

डीईओ, श्योपुर

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close