श्योपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। मालवा क्षेत्र में हो रही बारिश से पार्वती नदी में उफान आ गया है। जिससे पार्वती नदी पर बना खातौली पुल डूब जाने से श्योपुर का राजस्थान के कोटा से सड़क संपर्क टूट गया है। उधर चंबल नदी भी चढ़ गई है। चंबल नदी में कोटा बैराज से करीब 43 हजार क्यूसेक पानी छोड़ दिया गया है। हालांकि दोनो नदियों का जल स्तर अभी खतरे के निशान से नीचे है, लेकिन इनके बढ़े हुए जल स्तर को देखते हुए श्योपुर का प्रशासन अलर्ट हो गया है और प्रशासन के अधिकारियों ने दोनों नदियों के किनारो पर बसे गांवों पर निगरानी करना शुरू कर दिया है।

जानकारी के अनुसार गुरुवार की रात पार्वती नदी का जलस्तर खातौली पुल से नीचे था। लेकिन रात ढाई बजे के बजे के आसपास पार्वती का जलस्तर अचानक बढ़ गया है, जिससे खातौली पुल डूब गया है। शुक्रवार की दोपहर बाद तक पार्वती नदी का जल स्तर बढ़ रहा था। शाम साढ़े चार बजे के आसपास खातौली पुल पर साढे चार फीट पानी था। खातौली पुल डूबने से श्योपुर-कोटा हाईवे पर आवागमन बंद हो गया। जिससे सैकडों यात्रियों को खासी परेशानियां उठानी पड़ रही है। उधर चंबल नदी का जलस्तर बढ गया है। कोटा बैराज में पानी की आवक होने के कारण बैराज से भी पानी चंबल नदी में छोड़ा जा रहा है।

बाक्सः

कोटा बैराज से चंबल नदी में छोड़ा पानी

चंबल नदी उफान पर है,कोटा बैराज से भी पानी की निकासी शुरू कर दी गई है। लगातार बारिश के बाद बांध लबालब हो रहे हैं। कोटा बैराज के 8 गेट खोलकर नदी में छोड़ा जा रहे पानी 5 गेट 5-5 फीट और 3 गेट 3-3 फीट तक खोले गए हैं। शुक्रवार को करीब 43 हजार क्यूसेक पानी चंबल नदी में छोड़ दिया है। इसकारण चंबल नदी का जलस्तर में बढोत्तरी हो गई है। अब इसके साथ चंबल के निचले इलाकों में अलर्ट जारी कर दिया गया है। अगर बारिश लगातार जारी रही और नदी में पानी की आवक बढ़ी तो पानी की निकासी को बढ़ाया जाएगा। इन सब के साथ में खतरा भी चंबल नदी में और बढ़ जाएगा

बॉक्सः

600 के पार पहुंचा औषत बारिश का आंकड़ा

शुक्रवार को शहर सहित जिलेभर में कई जगह झमाझम बारिश हुई। जिससे नदी-नालों का जल स्तर एक बार फिर बढ़ गया है। शुक्रवार की सुबह 8 बजे तक जिले की औषत बारिश का आंकड़ा 600 मिमी के पार पहुंच गया है। जबकि गत वर्ष इस अवधि में श्योपुर जिले में 1120.4 मिमी बारिश हो गई थी। यहां बता दें कि जिले की औषत बारिश 822 मिली है।

बाक्स

सिंचाई के लिए चंबल नहर में कोटा बैराज से छोड़ा पानी

जिले के किसानों को सिंचाई के लिए पानी की जरूरत को देखते हुए कोटा बैराज से पानी का प्रवाह शुक्रवार की सुबह 8 बजे चंबल दाहिनी मुख्य नहर में छोड़ दिया गया है। इस पानी के रविवार को पार्वती एक्वाडक्ट पर आने की उम्मीद है। राजस्थान के कोटा जल संसाधन विभाग के प्रभारी ईई संदीप सोहेल ने बताया कि मप्र के अधिकारियों की ओर से पानी की डिमांड आई है। इसलिए शुक्रवार की सुबह 500 क्यूसेक पानी कोटा बैराज से छोड़ दिया गया है,जिसे बढाकर तीन हजार क्यूसेक किया जाएगा।

बॉक्सः

चंबल पार्वती नदी का जल स्तर एक नजर में

नदी जल स्तर खतरे का निशान

चंबल 190.36 मीटर 199.50 मीटर

पार्वती 194.30 मीटर 198 मीटर

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close