श्योपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। रुपयों के लेनदेन को लेकर चल रहे विवाद में बेटे को जान से मारने की धमकी देने पर मां की अटैक आने से मौत हो गई। महिला की मौत होने पर स्वजनों ने रात 10ः30 बजे कोतवाली के सामने शव रखकर एक घंटे तक हंगामा किया। स्वजनों का आरोप था कि कई बार पुलिस को कार्रवाई के लिए आवेदन दिया था, लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की जिससे उनकी मां की मौत हुई है।

जानकारी के अनुसार वार्ड क्रमांक 14 निवासी रामलखन पुत्र रामनिवास नायक के बड़े भाई सत्यनारायण नायक का रुपये के लेन-देन को लेकर किसी से विवाद चल रहा था, जिसके चलते वह आए दिन घर पर धमकी देने आते थे। फरियादी रामलखन का कहना है कि, पिछले 4-5 महीने से थाने में आवेदन दे रहा था, लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। शनिवार को देवीशंकर नायक, विष्णु नायक, महेंद्र आर्य, प्रमोद नायक, सोनू नायक, चंद्रप्रकाश नायक, विशाल नायक ने घर आकर मेरे भाई को जान से मारने की धमकी दी, जिससे घबरा कर मेरी मां गंगा बाई की मौत हो गई। इस बात से नाराज होकर स्वजनों ने रात 10ः30 बजे शव को कोतवाली के सामने रखकर हंगामा कर दिया। एक घंटे तक यह हंगामा चलता रहा। बाद में पुलिस की समझाइश के बाद स्वजन शव को पीएम के लिए ले गए।

बॉक्सः

पुलिस ने इनके खिलाफ किया मामला दर्ज

बुजुर्ग महिला की मौत के बाद कोतवाली पुलिस ने रामलखन पुत्र रामनिवास नायक की शिकायत पर आरोपित देवीशंकर, विष्णु, महेंद्र आर्य, प्रमोद, सोनू, चंद्रप्रकाश, विशाक नायक के खिलाफ मारपीट की धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है। वहीं मृतका गंगा बाई की मौत के मामले में भी पुलिस ने मर्ग कायम कर जांच शुरू कर दी है।

वर्जन-

बीमारी के चलते बुजुर्ग महिला की मौत हो गई है। स्वजन शव को कोतवाली सामने रखकर आरोपितों के खिलाफ कार्रवाई की मांग कर रहे थे। स्वजनों समझाइश देकर शव का पीएम करा दिया है। पुलिस ने मर्ग कायम कर मामले की जांच शुरू कर दी है।

अशोक सिंह भदौरिया

एसडीओपी, श्योपुर।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close