श्योपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

दीपावाली का बाजार सजकर तैयार हो रहा है। खरीदारों की भीड़ बढ़ेगी। ऐसे में ट्रैफिक व्यवस्था बनाना जरूरी होता है। लेकिन इस बार अभी तक न तो पुलिस प्रशासन ने ट्रैफिक प्लान बनाया है और न ही नगरपालिका ने पार्किंग की व्यवस्था की गई है। अगर यही हालात रहे तो बाजार में खरीदी करने वाले खरीदार ट्रैफिक जाम में फसेंगे।

शहर के भीड़ भरे बाजार में जहां मन आया वहीं वाहन खड़े कर दिए जाते हैं। सामान्य दिनों के अलावा त्योहारों पर भी लोगों की मनमानी पर रोक नहीं लग पाई। इसके पीछे जितने जिम्मेदार लोग हैं तो उससे ज्यादा पुलिस और प्रशासन का अमला जो सालों बाद भी शहर की इस समस्या का निराकरण नहीं कर सका। 15 से 20 फीट चौड़ी सड़कों के दोनों तरफ दोपहिया वाहनों के अलावा जब दुकानें भी लगती हैं और दुकानदार सामान भी बाहर रख देते हैं तो यहां स्थिति क्या बनती होगी इसे सहज ही समझा जा सकता है। इस बार भी अब त्योहार पास हैं लेकिन पार्किंग व्यवस्था बनाने की तरफ किसी जिम्मेदार का ध्यान नहीं है। यही कारण है कि इस बार भी लोगों को हर साल की तरह समस्या से जूझना पड़ेगा। शहर में पार्किंग की समस्या सालों पुरानी है जो अभी भी है।

इन जगहों पर होती है समस्या -

बड़ौदा रोड-

इस मार्ग में सबसे अधिक भीड़ रहती है। सामान्य दिनों में भी यहां ग्राहकों की अधिक भीड़ होती है। कहने को यहां सड़क 40 फीट चौड़ी है, लेकिन दोनों तरफ वाहनों के खड़ा करने और दुकानदारों के सामान बाहर रखने से दिक्कत होती है। इसके अलावा डिवाइडर के दोनों ओर ठेले खड़े हो जाते हैं। समस्या उस समय और बढ़ जाती है जब त्योहारों के समय दुकानें सड़क पर भी लग जाती हैं। जब तक इस समस्या का निदान नहीं होता तब तक यहां पर भी समस्या बनी रहेगी।

गोलांबर के पास -

यहां दुर्गा मूर्तियां बिकती हैं। इसके अलावा यहां पर पूजन सामग्री की दुकानें भी सड़क पर लगती हैं। वहीं स्थानीय दुकानदार पर सड़क पर पांच फुट जगह पर सामान रखकर कब्जा कर लेते हैं। वहीं कई ठेले भी सड़क पर ही खड़े हो जाते हैं। ऐसे में इस मार्ग पर तो वाहन प्रतिबंधित होना चाहिए, लेकिन ऐसा नहीं हो पाता है। इसी के साथ यहां साामन खरीदने आने वाले लोग अपने वाहन सड़क पर खड़े कर देते हैं। इससे यहां पैदल चलने में भी परेशानी होती है। आने वाले दिनों के लिए भी अभी तक कोई तैयारी नहीं है।

मेन बाजार -

इस बाजार में कफड़ा व्यापारी के अलावा किराना स्टोर की बड़ी दुकाने हैं। इसके अलावा ज्वैलर्स और साड़ियों की दुकान हैं। व्यापारी सामान सड़क पर रख लेते हैं ऐसे में उन्हें काफी परेशानी होती है। इसके अलावा खरीदारी करने आने वाले लोग सामान भी सड़क पर रख लेते हैं। जिससे परेशानी होती है।

?यहां हो सकती है पार्किंग -

बड़ौदा रोड - कबीर आश्रम

बड़ौदा रोड पर आने वाले लोगों के लिए कबीर आश्रम के पास पार्किंग बनाई जा सकती है। यहां करीब 100 दोपहिया वाहन खड़े करने के लिए व्यवस्था की जा सकती है। अभी इस जगह का उपयोग नहीं हो रहा है।

पुराना अस्पताल -

यहां चार पहिया वाहन व बाइकों को खड़ा करने के लिए उपयोग में लिया जा सकता है। सभी चार पहिया वाहनों की पार्किंग यहां कराना चाहिए।

श्रीराम धर्मशाला के पास -

मेन बाजार और गोलांबर पर आने वाले वाहनों को श्रीराम धर्मशाला के पास खड़ा कराया जा सकता है। यहां चार पहिया और बाइकों को भी खड़ आसानी से कराया जा सकता है।

वर्जन -

पार्किंग के लिए जगह चि-ति की जा रही है। दशहरा के बाद ट्रैफिक प्लान भी तैयार किया है। बाजार में कहीं भी अव्यवस्था नहीं होने दी जाएगी।

अखिलेश शर्मा, ट्रैफिक प्रभारी श्योपुर।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local